सिधौली स्वच्छ आदर्श नगर पंचायत की खुली पोल नगर में घुसा जहरीला पानी

सिधौली स्वच्छ आदर्श नगर पंचायत की खुली पोल नगर में घुसा जहरीला पानी

सिधौली स्वच्छ आदर्श नगर पंचायत की खुली पोल नगर में घुसा जहरीला पानी


जिला संवाददाता नरेश गुप्ता की रिपोर्ट

 सिधौली सीतापुर

सिधौली के  महमूदाबाद  रेलवे  फाटक के समीप संत नगर में पास ही से  निकले  नाले के आकाशमिक  नाले के पानी से घरों से निकलना भी किसी जंग लड़ने से कम नहीं लगा नगर वासियों ने बताया की बीते 3 दिन पहले नाले से  गंदा पानी आकाशमिक नगर में प्रवेश करने लगा देखते देखते गंदा पानी घरों में प्रवेश करने लगा यहां तक की घर की दहलीज के अंदर पानी ने कब अपना ठिकाना बनाया पता ही नहीं चला लोगों ने जैसे ही जमीन पर कदम रखा तो घर पानी से लबालब हो चुका था।

प्राप्त जानकारी के अनुसार  पास ही के नाले  का  दुरुस्तीकरण ना होने के कारण नगर पंचायत  सिधौली  की लापरवाही का खामियाजा  नगर वासियों को  भुगतना पड़ रहा है। बीते कई दिनों से अधिकारियों को दूरभाष के जरिए परेशानी से अवगत कराया जा रहा है किंतु अधिकारियों की तो बात दूर की है नगरपंचायत सिधौली ने भी नगर वासियों की समस्याओं से मुंह मोड़ रखा है फल स्वरूप सिधौली के इस नगर में घुटनों तक नाले का गंदा  दुर्गध युक्त जलभराव अपना प्रचंड रूप ले रहा है।

नगर वासियों ने बताया  रात में  सभी  नगर वासी  अपने मकानों में  सो रहे  थे  उन्हें पता ही नहीं चला  की कब  यह जलभराव होने लगा  सुबह उठने पर जाकर देखा तो समीप के नाले से पानी तेजी से मोहल्ले मे जा रहा था नगर के एक दर्जन से अधिक परिवारों के सदस्य नगर पालिका को कोस रहे थे। सभी परेशान थे। उनके घरों में भी नाले का पानी भरा हुआ था।

क्षेत्रीय लोगों की शिकायत के बाद भी नहीं की सफाई

नगर वासियों ने आनन-फानन में संबंधित विभाग को ही नहीं अपितु नगर पंचायत सिधौली को उक्त घटना की जानकारी से अवगत कराया किंतु उन्हें आश्वस्त के सिवा कुछ भी हाथ नहीं लग रहा है लोगों की मानें तो नाले का दुरुस्ती करण न होने से  एक दर्जन से अधिक मकानों में पानी भर गया। कई रस्ते बंद हो गए।

गंदे पानी के साथ- साथ आया कचरा भी घरों में जमा हो गया है। सुबह प्रभावित लोगों के साथ पड़ोसियों को लेकर संबंधित नगर पंचायत के पूर्व सभासद  भी आ गए और पालिकाध्यक्ष को समस्या से अवगत कराया और नगर के दूषित जलभराव की सफाई के  बारे में  कहा गया किंतु संबंधित हर अधिकारी यही कहकर अपना पल्ला झाड़ता है की जल्द से जल्द सफाई कराई जाएगी

काम छोड़, घर में जुटे

घरों में पानी भर जाने से लोग अपने काम धंधे पर नहीं जा सके। खाना बनने के लिए भी स्थान तक नहीं बचा था, खासकर जो जमीन पर चूल्हा रखकर खाना बना रहे थे।

रसोई में पानी भर गया था। क्षेत्रीय निवासी सीमा ने बताया कि सुबह से चाय तक नहीं बन पाई है और बच्चे भी परेशान है। बाजार से चाय- नश्ता मंगाना पड़ा.

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Loading...
Loading...

Comments