दरोगा बता राहगीर को बनाया बंदी, लिए 1500 रुपये......

दरोगा बता राहगीर को बनाया बंदी, लिए 1500 रुपये......

स्वतंत्र प्रभात

लखनऊ - सोमवार दिनांक 3 जून को अमरीश शुक्ला निवासी  मुड़िया लखीमपुर जब लखनऊ अपने वृद्ध पिता जयनारायण शुक्ल की दवा लेने बजाज की विक्रांत दोपहिया से आ रहे थे।

 तो सिधौली में एक वैगनआर गाड़ी ने उन को टक्कर मारी जिसका नंबर यू पी 32 DB 8439 है जो की अखिलेश कुमार सिंह के नाम से महानगर लखनऊ आर टी ओ में अलाट है टक्कर का मुख्य कारण चालक का नशे में होना था।

टककर के दौरान किसी को कोई भी नुकसान नहीं पहुंचा । जिसके बाद गाड़ी के अंदर बैठे चार लोग जो नशे में धुत्त थे ने अमरीश को पकड़कर और गाड़ी की चाबी निकालकर वैगनआर गाड़ी के अंदर बैठा लिया ।और खुद को पुलिस प्रशासन का दरोगा बताया और धोंस दिखाते हुए उसको मारा पीटा।

और 5000 की मांग की अमरीश के लाख गिड़गिड़ाने पर कि मेरे पास सिर्फ ₹1000रु हैं दरोगा जी ने उनको नहीं छोड़ा बल्कि गाड़ी में बैठाकर सिधौली से महमूदा पुर के रास्ते उसको करीब 12 किलोमीटर तक आगे बंदी बना कर ले गए और जबरन कुल रुपये मौजूद 1500 रुपए ले लिए।

आगे पहुंचकर पीड़ित ने अपने ममेरे भाई को कॉल किया और पेटीएम से पेट्रोल भरवाया| गौरतलब है की पीड़ित पहले से ही पैरों से कमजोर है lऔर उसको पैरो में फिर से चोट आई है।

 अखिलेश सिंह  जिससे  पीड़ित के ममेरे भाई की हुई वार्ता की कॉल रिकॉर्डिंग मौजूद है |जो कि फोन पर अपना नाम और पता नहीं बता रहा था ।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments