समाजवादी पार्टी के प्रदेश सचिव ने लगाए सीएचसी हैदरगढ़ पर गंभीर आरोप

समाजवादी पार्टी के प्रदेश सचिव ने लगाए सीएचसी हैदरगढ़ पर गंभीर आरोप

रिपोर्ट-राकेश पाठक

हैदरगढ़ बाराबंकी
सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र हैदरगढ़ में व्याप्त भ्रष्टाचार स्वास्थ्य अधीक्षक पर समाजवादी पार्टी के प्रबुद्ध वर्ग के प्रदेश सचिव ने लगाए भ्रष्टाचार के आरोप 21 सूत्री मांग पत्र मुख्यमंत्री को भेजकर की जांच कर कार्यवाही की मांग।

समाजवादी पार्टी के प्रबुद्ध वर्ग के प्रदेश सचिव वेद प्रकाश बाजपेई ने मुख्यमंत्री को 21 सूत्री मांग पत्र भेज कर जांच कर कार्यवाही किए जाने की मांग की। भेजे गए मांग पत्र में लिखा है कि स्वास्थ्य केंद्र में तैनात स्वास्थ्य अधीक्षक भ्रष्टाचार में लिप्त हैं एम बी बी एस डॉक्टर को अधीक्षक बनाया जाए जनपद में लेवल 3 के अधीक्षकों की तैनाती की गई है।

लेबल टू के अधीक्षक बनाए जाए हैदरगढ़ में तैनात डॉक्टर अधीक्षक अपने नातेदारो व स्टाफ के लोगों के खाते में पैसा डाल कर निकाल लिया जाता है जिनके बैंक खाता चेक किए जाएं अस्पताल में लगी अल्ट्रासाउंड मशीन के कार्यवाहक डॉ पी के गुप्ता महीने में एक या 2 दिन आते हैं।

बाकी दिन अपने निजी नर्सिंग होम में रहते हैं। शाखा द्वारा चलाए जा रहे राष्ट्रीय कार्यक्रमों का भुगतान की जांच करवाई जाए। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के टीकारामन में संविदा कर्मी के बैंक खाते चेक किए जाएं। थलवारा स्वास्थ्य केंद्र में तैनात फार्मेसिस्ट ड्यूटी पर कभी नहीं आते हैं।

इमरजेंसी ड्यूटी भी नहीं करते इनका वेतन बराबर अधीक्षक द्वारा दिया जाता है। तैनात डेंटल डॉक्टर कभी-कभी आती है फिर भी उपस्थित पंजिका में हाजिरी लग जाती है।

सपा नेता बाजपेई ने यह भी आरोप लगाया है सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र हैदरगढ़ परिसर में लगे छायादार किसके आदेश से कटवा दिए गए। जिन का मूल्यांकन कितना किया गया है।

फूलदार थे तथा कितने छायादार थे प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सराय गोपी थलवारा टीका रामन बहुता सुबेहा के अस्पतालों की बाहरी सामने की दीवाल अगवा करके पूरा पैसा निकलवा लिया गया फर्जी बिल बाउचर लगाकर उपकेंद्र पर प्रति माह की बैठक दो बार कराई जाती है।

जिसमें शासन द्वारा आंगनबाड़ी एवं आशा कार्यकत्रियों को आने-जाने का मानदेय दिया जाना चाहिए परंतु आज तक किसी भी वित्तीय वर्ष में उपरोक्त मानदेय नहीं दिया गया है। इससे सरकार की मंशा के अनुरूप कार्य में बाधा उत्पन्न होती है।

स्वास्थ्य केंद्र में तैनात डॉक्टरों द्वारा बाहर से एक्सरे मशीन मौजूद होने के बावजूद बाहर से अल्ट्रासाउंड एक्सरे व बाहरी जगह से कमीशन खोरी के चलते करवाई जाती है। बाहर से ही दवाइयां मेडिकल स्टोरों की लिखी जाती है।

जिसकी निष्पक्ष जांच की जाए। सपा महासचिव वेद प्रकाश बाजपेई ने माननीय मुख्यमंत्री स्वास्थ्य मंत्री प्रमुख सचिव स्वास्थ्य नोडल अधिकारी बाराबंकी जिला अधिकारी बाराबंकी मुख्य विकास अधिकारी बाराबंकी को भेजे गए 21 सूत्री मांग पत्र में जांच कर कार्यवाही किए जाने की मांग की तथा जांच ना होने पर जन आंदोलन की चेतावनी भी दी।

Comments