#SWATANTRAPRABHAT पीड़ित की तहरीर पर कोतवाली में युवक को पीटने वाले 4 दारोगा सस्पेंट

रायबरेली पीड़ित की तहरीर पर कोतवाली में युवक को पीटने वाले 4 दारोगा सस्पेंट उत्तर प्रदेश के रायबरेली जिले में पुलिस का शर्मशार मामला प्रकाश में आया जहां एक युवक को बेरहमी से पिटाई करने का मामला उजागर हुआ।

पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार सिंह ने शहर कोतवाली में तैनात तीन दरोगा को सस्पेंड कर दिया पीड़ित से चौकी पर बदसलूकी व पिटाई करने पर एक चौकी इंचार्ज को भी सस्पेंड कर दिया है। आप को बता दें कि शहर कोतवाली के गल्ला मंडी के निकट रहने वाले रोहित कुमार पुत्र गड्डे लाल ने एसपी को शिकायत पत्र देकर बताया था कि शहर कोतवाली में तैनात दरोगा देवेंद्र कुमार अवस्थी और प्रवीण गौतम ने उसे बेरहमी से पीटा और उससे रिश्वत की मांग की।

वहीं दूसरे मामले में अनुज कुमार पुत्र राजेश कुमार निवासी मधापुर ने एसपी को दिए शिकायती पत्र में बताया था कि सिविल लाइन चौकी इंचार्ज गोपाल मणि मिश्रा ने अंडा की दुकान लगाने वाले युवक की बेरहमी से पिटाई की थी उसे इस तरह बेरहमी से पीटा कि उसे कान से सुनाई नही दे रहा है। एसपी ने दोनों मामलों की जांच क्षेत्राधिकारी सदर गोपीनाथ सोनी को दी थी उनकी रिपोर्ट आने के बाद उन्होंने यह सख्त कदम उठाया।

वहीं एक अन्य मामले में घुरवारा चौकी इंचार्ज अनिल शर्मा को चौकी पर पीड़ित से बदसलूकी के मामले में भी एसपी ने कड़ी कार्रवाई करते हुए सस्पेंड कर दिया। वहीं एसपी सुनील सिंह ने कहा कि कोई भी हो अगर गलत काम करते हुए पाए गए तो उसको बख्शा नहीं जाएगा चाहे वह पुलिस के हो चाहे कोई भी हो। सजा जरूर मिलेगी फिलहाल एक दारोगा पर कार्यवाही न होने से पुलिस की किरकिरी भी हो रही है

कियोकि यह दारोगा पवन प्रताप सिंह है और एस पी भी ठाकुर है तो विभाग के लोग इसे जातिवाद कारवाही ज़रूर कह रहे है पीड़ित द्वारा जो प्राथना पत्र दिया गया था उसमें पवन प्रताप सिंह का भी नाम है अब देखना यह होगा कि एस पी साहब अपनी हो रही किरकिरी से कैसे बचते है

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Comments