बच्चों के इलाज में उन्नाव को प्रदेश में मिला पहला स्थान

बच्चों के इलाज में उन्नाव को प्रदेश में मिला पहला स्थान

उन्नाव स्वतंत्र प्रभात 

राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम में जिले को प्रदेश में पहला स्थान मिला है। 1 मई से 15 सितंबर के बीच जिले की 32 मेडिकल टीमों ने रिकॉर्ड 133616 बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण किया। इस दौरान गंभीर बीमारियों से पीड़ित 10511 बच्चों का सफल इलाज भी कराया गया। जिनमें दिल में छेद, पैर टेढ़ा होना व होंठ कटे होने की समस्या से पीड़ित बच्चे भी शामिल थे।

राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के तहत मेडिकल टीम स्कूल व आंगनबाड़ी केंद्रों पर जाकर बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण करती हैं। यहां बीमार बच्चों की पहचान कर उन्हें अस्पताल में भर्ती करा उनका उपचार कराया जाता है। गंभीर बीमारियों से पीड़ित बच्चों को लखनऊ व कानपुर रेफर किया जाता है। डीईआईसी (डिस्ट्रिक्ट अर्ली इंटरवेंशन सेंटर)प्रोगाम मैनेजर सलमान ने बताया कि 1 मई से 15 सितंबर के बीच जिन बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया था

उनमें 7457 बच्चे स्कूल व 4563 बच्चे आंगनबाड़ी केंद्र के थे। इनमें 10511 बच्चों का सफल इलाज कराने के साथ उन्नाव जिला प्रदेश के अन्य जिलों से सबसे आगे रहा। चार माह की रिपोर्ट में उन्नाव जिले को प्रदेश में पहला स्थान मिला है।

Comments