वर्तमान मे नौजवान का आउट सोर्सिंग के तहत हो रहा शोषण

वर्तमान मे नौजवान का आउट सोर्सिंग के तहत हो रहा शोषण
 

 

देश की आजादी मे युवाओं का रहा अहम योगदान ।

नौजवान ही देश के भविष्य है ।

लखनऊ

राष्ट्रवादी युवा अधिकार मंच(nyrm) के बैनर तले "वर्तमान में नौजवानों की भूमिका एवं चुनौतियां "विषय पर परिचर्चा/गोष्ठी में राष्ट्रीय अध्यक्ष शशांक शेखर सिंह  ने कहा कि राष्ट्र एवं समाज के निर्माण में  (30 वर्ष से कम उम्र के )नौजवानों की देश की आज़ादी में महत्वपूर्ण भूमिका रही है।देश को नई ऊंचाइयों पर ले जाने की जिम्मेदारी हम सभी नौजवानों की है लेकिन राजनैतिक पार्टियां अपने निजी स्वार्थ में नौजवानों को सिर्फ वोटबैंक/प्रचारतंत्र के रूप में इस्तेमाल कर भावनाओं को बेच रही है।राजनैतिक दलों के चंगुल में फंसकर युवा जाति-धर्म के नाम पर ऊर्जा को व्यर्थ कर अपने अधिकार से वंचित होता जा रहा है।जबकि देश मे 65 %युवा है वर्तमान का युवा अपने भविष्य को लेकर हताश और निराश है,नकारात्मकता की तरफ बढ़ रहा है।

वही देश को ऊंचाइयों पर ले जाकर उ0प्र0 समेत पूरे देश में मजबूत विपक्ष की भूमिका के निर्वहन में अशिक्षा, बेरोजगारी,भय,भूख,भ्रष्टाचार,शोषण से जैसी समस्याओं से निपटने की चुनौतियां भी है जहां देश में आये दिन जनसंख्या वृद्धि , सामाजिक कुरीतियां, अंधविश्वास,सरकार की गलत नीतियों एवं कमजोर विपक्ष से आये दिन समस्याएं बढ़ती ही जा रही है जो दुर्भाग्यपूर्ण है।पूरे देश मे नौजवानों को एक मंच पर इकट्ठा होकर मुख्य विपक्ष की भूमिका में देश की चुनौतियां स्वीकार करने का वक्त है।युवा आधारित नीति,युवाओं के अधिकार,सरंक्षण, संवर्धन हेतु "युवा आयोग"के गठन,बेरोजगारी ,महंगी शिक्षा ,सरकारी विभागों में आउटसोर्सिंग प्रथा समाप्त करने,सरकारी संस्थाओं को निजी हाथों में बेचने जैसी मुद्दों पर सरकार को घेरने की आवश्यकता है।वर्तमान में उन तमाम महापुरुषों एवं देशभक्तों के संघर्षों को आत्मसात  करने की आवश्यकता है।

राष्टवादी युवा अधिकार मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष शशांक शेखर सिंह पिछले कई वर्षों से छात्रों/नौजवानों की आवाज बुलंद करते रहे है।नौजवानों को एक प्लेटफार्म देने के उद्देश्य से राष्ट्रवादी युवा अधिकार मंच का गठन दिनांक 3 नवंबर को किया गया जिसका पंजीकरण वर्ष 2018 में कराया गया।प्रथम स्थापना दिवस पर"युवा कवि सम्मेलन एवं सम्मान समारोह" का आयोजन कर संगठन के अध्यक्ष शशांक शेखर सिंह ने युवा कवियों को सम्मानित भी किया।जिसमें प्रियांशु वात्सल्य, वात्सल्य श्याम,अवधराम,मृत्युंजय वाजपेई, रविन्द्र पांडेय थे।दर्जनों सम्मेलन एवं युवाओं को जागरूक करते आ रहे शशांक शेखर सिंह ।

 

 

Comments