नाबालिग यश को तलाशने में फ्लड टीम भी असफल

नाबालिग यश को तलाशने में फ्लड टीम भी असफल

अनूप सिंह ब्यूरो चीफ महोबा

दैनिक स्वतंत्र प्रभात

♦फ्लड टीम के साथ स्वयं थाना प्रभारी एके सिंह ने स्टीमर में बैठकर किया सर्च ऑपरेशन

♦48 घण्टे से नाबालिग यश की तलाश में सर्च ऑपरेशन जारी

महोबा-कबरई:-

कस्बे में लापता नाबालिग बालक यश को तलाशने में पुलिस के हाथ नही लग पा रही कोई सफलता मामला 9 फरवरी का है जब नाबालिग यश विश्वकर्मा अपने पिता रमेश चंद्र विश्वकर्मा निवासी विवेक नगर कबरई को वीयर की दुकान में खाना देने के बाद लगभग 3 बजे दोपहर को घूमने या शौच क्रिया के लिए प्राचीन वर्मा तालाब आया

लेकिन काफी देर होने के बाद जब यश घर नही पहुंचा तो परिजनों ने उसकी खोजबीन की तो उनको वर्मा तालाब के पास 250 फीट गहरी खदान के पास यश की साइकिल व खदान में तैरती हुई चप्पल मिली लेकिन यश नही मिला यह नजारा देख घर वालों के होश उड़ गए तथा घर वालो ने तत्काल पुलिस को इसकी सूचना दी जिस पर मौके पर पहुंची पुलिस ने स्थानीय गोताखोरों से सर्च ऑपरेशन शुरू करवाया लेकिन 24 घंटे बीत जाने के बाद भी पुलिस को कोई सफलता हाँथ नही लगी।

नाराज परिजनों ने 24 घंटे बीत जाने के बाद 10 फरवरी को शहीद बालेंद्र सिंह तिराहे के पास नेशनल हाईवे जाम कर पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की जिससे घंटो जाम में यात्री फसे रहे मौके पर पहुंचे सीओ सिटी जीतेन्द्र दुबे ने परिजनों को आश्वासन दिया और कहा कि आस पास के जनपदों में प्रशिक्षित फ्लड टीम नही है लेकिन एटा से फ्लड टीम बुलाई गई जिस पर परिजनों ने जाम खोला परिजनों का पुलिस पर आरोप था कि 24 घंटे बीत जाने के बाद भी कोई बड़ी कार्यवाही व बाहरी कोई प्रशिक्षित गोताखोर नही बुलाये गए।


     एटा से आई फ्लड टीम ने 250 फीट गहरी खदान में स्टीमर डालकर लहरें उत्पन्न की तथा स्टीमर में स्वयं थाना प्रभारी एके सिंह ने बैठकर सर्च ऑपरेशन किया लेकिन नाबालिग यश को खोजने में एटा की फ्लड टीम को भी सफलता हाँथ नही लगी इस प्रकार  नाबालिग यश विश्वकर्मा की अनसुलझी कहानी बनती हुई दिखाई दे रही है।

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Loading...
Loading...

Comments