जुआरियों को छोड़ने के लिए पैसों की मांग। मामला सोशल मीडिया पर हुआ वायरल

वायरल मामले में किसी को लाइन हाजिर किया गया तो कोई दरोगा पर निलंबन की कार्रवाई

 
जुआरियों को छोड़ने के लिए पैसों की मांग। मामला सोशल मीडिया पर हुआ वायरल 

स्वतंत्र प्रभात-


उन्नाव।

पुलिस विभाग में तैनात अलग-अलग थानों में कार्य में लापरवाही बरतने पर दो दरोगा और एक इंस्पेक्टर को सस्पेंड कर दिया गया है। इसमें एक चौकी इंचार्ज भी शामिल है जिन्हें पहले लाइन हाजिर किया गया था। बाद में उन्हें निलंबित किया। उधर उच्च न्यायालय के मामले में लापरवाही बरतने पर थाने में एसएसआई पद पर तैनात दरोगा को निलंबित कर दिया गया।

निलंबन की कार्रवाई में एक इंस्पेक्टर भी शामिल है। पुलिस विभाग में पिछले दो माह में कई ऑडियो ओर वीडियो वायरल हो चुके है वायरल मामले में किसी को लाइन हाजिर किया गया तो कोई दरोगा पर निलंबन की कार्रवाई की गई। लगातार कार्रवाई के बावजूद विभाग के कर्मी नही सुधरे। बीते दिनों सदर चौकी इंचार्ज राजेश मिश्रा का एक ऑडियो वायरल हुआ जिसमें उन्होंने जुआरियों को छोड़ने के लिए पैसों की मांग।

मामला सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो एसपी ने जांच कराई ओर प्रथमदृष्टया संलिप्तता पाए जाने पर लाइन हाजिर कर दिया गया। बाद में चौकी इंचार्ज सदर राजेश मिश्रा को एसपी दिनेश त्रिपाठी ने निलंबित कर दिया।

   

FROM AROUND THE WEB