पड़ोसी देश नेपाल के बनबसा बैराज से घाघरा नदी में छोड़ा गया तीन लाख क्यूसेक पानी

वही तहसील प्रशासन के द्वारा कोई किसी प्रकार की सहायता बाढ़ क्षेत्र में नहीं की गई है 
 
पड़ोसी देश नेपाल के बनबसा बैराज से घाघरा नदी में छोड़ा गया तीन लाख क्यूसेक पानी

स्वतंत्र प्रभात 

रामनगर बाराबंकी जनपद बाराबंकी की तहसील रामनगर अंतर्गत स्थित संजय सेतु के पास घाघरा सरयू नदी में नेपाल के द्वारा बनबसा बैराज से पानी छोड़ा गया है।सरयू नदी में करीब 3 लाख क्यूसेक पानी छोड़े जाने से नदी का जलस्तर तेजी से लगातार बढ़ रहा है। जिसके चलते नदी के तराई क्षेत्रों में बसे दर्जनों गांव  बाढ़ की चपेट में आएंगे। आस-पास के गांव में खतरा मंडराने लगा है। वहीं नदी की तेज बहाव व कटान से हजारों बीघा कृषि योग्य भूमि नदी की आगोश में समाहित होती जा रही है। केंद्रीय जल पूर्वानुमान केंद्र घाघरा घाट के अनुसार सायं करीब 4 बजे सरयू नदी का जलस्तर 106.00 6 सेंटीमीटर पर स्थिर रहा

जो कि खतरे के निशान 106. 070 सेंटीमीटर पहुंचने में मात्र 7 सेंटीमीटर नीचे है। जिला बाढ़ खंड अधिकारी शशीकांत सिंह ने बताया कि सोमवार को बनबसा बैराज से 3 लाख क्यूसेक पानी सरयू नदी में छोड़ा गया था जो अभी तक आ रहा है। नदी अभी भी खतरे के निशान से नीचे बह रही है ग्रामीणों का कहना है कि यदि इसी तरह से नदी बढ़ती रही तो हम लोगों के गांव में बहुत जल्द  बाढ़ का पानी पहुंच जाएगा। इस समय जानवरों के खाने के लाले पड़े हुए हैं आगे चलकर हम लोगों को भी अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ेगा। एक दर्जन से अधिक गांव के चारों ओर बाढ़ का पानी भरा हुआ है। वही तहसील प्रशासन के द्वारा कोई किसी प्रकार की सहायता बाढ़ क्षेत्र में नहीं की गई है 

   

FROM AROUND THE WEB