दरोगा के पुलिसिया आतंक से परेशान होकर दलित ने परिवार सहित छोड़ा घर

 
दरोगा के पुलिसिया आतंक से परेशान होकर दलित ने परिवार सहित छोड़ा घर

स्वतंत्र प्रभात-

सीतापुर

एक तरफ सरकार जहाँ सबका साथ सबका विकास की बात करती है,और पुलिस को मित्रवत व्यवहार का पाठ पढ़ाया जाता है। वहीं दूसरी तरफ सीतापुर के कमलापुर थाने की मास्टरबाग चौकी प्रभारी अजय सिंह द्वारा सरकार की मंशा पर पानी फेरा जा रहा है। आये दिन क्षेत्र में हो रही आपराधिक घटनाओं पर रोक लगाने की बजाय अपनी वर्दी का रौब गरीब दलितों पर जुल्म ढाकर जमाया जा रहा है। बताते चलें कि बीती 14 मई को क्षेत्र के ग्राम खमरिया निवासी संजय कन्नौज़िया पुत्र नंदकिशोर का पड़ोसी बिहारी,व कुन्हू,से नाली में पानी की निकासी को लेकर विवाद हो गया था।

जिसमें दोनों पक्षों को चोटें आई थी। दोनों पक्षों ने थाने में तहरीर दी थी। संजय कन्नौज़िया से दरोगा द्वारा रुपयों की मांग की गई थी। जिस पर पीड़ित ने असमर्थता जताई तो दूसरे पक्ष से मोटी रकम लेकर दरोगा अजय सिंह के द्वारा एक पक्षीय कार्यवाही करते हुए पीड़ित पर ही एनसीआर दर्ज कर संजय कन्नौज़िया व उसके पिता नन्दकिशोर को थाने पर बैठाकर मारापीटा था। और 151 में चालान भेज दिया था। जिसमे पीड़ित संजय ने जमानत करवाई थी। तबसे लगातार मास्टरबाग चौकी की पुलिस द्वारा आये दिन फोन करके जेल भेजने की धमकियाँ पीड़ित को दी जा रही थी।

और पीड़ित के घर पर दबिस दी जा रही थी। जिससे भयभीत होकर पीड़ित संजय परिवार सहित घर छोंड़कर पिछले 20 दिनों से अपने रिश्तेदारों के वहाँ रुककर गुजर बसर कर रहा था।बीते रविवार को जब हिम्मत करके पीड़ित संजय जब परिवार सहित अपने घर पहुंचा तो समय लगभग 12 बजे दिन में चौकी पर तैनात सिपाही कृष्णपाल व बिपिन मिश्रा उपनिरीक्षक अजय सिंह के कहने पर पीड़ित के घर पहुंच गए और घर में घुसकर महिलाओं से अभद्रता व तोड़फोड़ करने लगें और जातिसूचक गालियां देने लगे कहा कि साले धोबी के दिमाग खराब हैं। उस समय संजय घर पर नही थे।

मेहमानों की मोटरसाइकिल की दोनों पहियों को छेद कर पंचर कर दिया और मेहमानी आये साढू के बेटे गोविंद प्रशाद पुत्र रोहित को पकड़ कर चौकी पर ले आये और वहाँ पर दरोगा अजय सिंह ने उसको खूब मारापीटा और अभद्रता की फिर 5 घण्टे बाद प्रभारी निरीक्षक कमलापुर पुष्पराज कुशवाहा के कहने पर गोविंद प्रसाद को छोड़ा गया।मास्टरबाग चौकी की पुलिस के इस पुलिसिया उत्पीड़न से परेशान होकर पीड़ित संजय कन्नौज़िया ने अपने 4 बच्चों पत्नी व बूढ़े बाप के साथ घर छोड़ दिया है। और इधर उधर रिस्तेदारों के वहाँ रुक रहा है। पीड़ित को डर है कि कही दरोगा अजय सिंह उसे फर्जी मुकदमे में फंसाकर जेल न भेज दे। पीड़ित ने पुलिस अधीक्षक आरपी सिंह को प्रार्थना पत्र देकर कार्यवाही की मांग की है। इस सम्बंध में जब प्रभारी निरीक्षक कमलापुर पुष्पराज कुशवाहा से बात की गई तो उन्होंने बताया कि जानकारी मिली है जांचकर कार्यवाही की जाएगी।

   

FROM AROUND THE WEB