हर घर जल योजना के तहत हर घर पेयजल पहुँचाने मे जल निगम के अफसर नाकाम

सैदापुर गांव में पेयजल आपूर्ति के लिये बिछाई गयी पाइप लाइन बनी शोपीस
 
.सैदापुर गांव में पेयजल आपूर्ति के लिये बिछाई गयी पाइप लाइन बनी शोपीस

स्वतंत्र प्रभात 

निगोहाँ  हर घर जल' योजना के तहत घर-घर पेयजल आपूर्ति पहुंचाने की केन्द्र व राज्य सरकार की सबसे महत्वपूर्ण योजना को राजधानी मे जल निगम के अधिकारी पलीता लगाने में जुटे है। पेयजल योजना की सच्चाई यह है कि जल निगम की कार्यदायी संस्था ग्रामीणों को स्वच्छ पेयजल पहुँचाने मे नाकाम है जिससे केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार की महात्वाकांक्षी स्वच्छ पेयजल योजना राजधानी की चौखट पर दम तोड़ती नजर आ रही है ।

मोहनलालगंज विकासखण्ड के उतरावां मजरा सैदापुर गांव में पेयजल आपूर्ति शुरू करने के लिये सात महीने पहले जलनिगम की कार्यदायी संस्था के ठेकेदारो ने पाइप लाइन बिछाने के साथ ही कई दर्जन घरो के बाहर पाइप व नल भी लगा दिये,लेकिन सात माह बीत जाने के बाद भी सप्लाई नही चालू कर सके।जिसको लेकर ग्रामीणो में रोष व्याप्त है।

नाराज ग्रामीणो ने मुख्यमंत्री को शिकायती पत्र भेजकर व शनिवार को सम्पूर्ण समाधान दिवस में एसडीएम से शिकायत कर पेयजल आपूर्ति शुरू कराये जाने की मांग की‌।एसडीएम ने जल निगम के जेई को कड़ी फटकार लगाते हुये विगत 15 दिनो में पेयजल आपूर्ति शुरू कराये जाने के निर्देश दिये।

मोहनलालगंज विकासखंड के उतरावाॅ मजरा सैदापुर गांव निवासी राकेश मिश्रा,शिवकुमार,राजकुमार समेत दर्जनो ग्रामीणो ने एसडीएम हनुमान प्रसाद मौर्य से शिकायत करते हुये बताया उनके ग्राम में सरकार की मंशा के दृष्टिगत पेयजल आपूर्ति के लिते सात माह पहले पाइप लाइन बिछाने का काम जनवरी 2022 में कार्यदायी संस्था के ठेकेदार द्वारा शुरू किया गया ओर घरो के बाहर तक पाइप लाइन बिछाकर नल भी लगा दिये गये,लेकिन टंकी से सप्लाई के लिये बिछाई गयी पाइप लाइन जोड़ने की बजाय अधूरा काम छोड़कर चले गये।कार्यदायी संस्था व जलनिगम के अफसरो की लापरवाही के चलते सात माह से अधिक का समय बीत जाने के बाद भी पेयजल आपूर्ति चालू नही हो सकी ओर घरो के बाहर लगाने गये नल भी शोपिस बनकर रह गये।

   

FROM AROUND THE WEB