वन विभाग द्वारा लगवाए गए पौधों की सुरक्षा के लिए लगाए गए तार पिलर सहित गायब

 नगरौरा स्थित वन विभाग के अधिकारी के निजी फार्म हाउस पर मिले सभी गायब पिलर
 
वन विभाग द्वारा लगवाए गए पौधों की सुरक्षा के लिए लगाए गए तार पिलर सहित गायब 

स्वतंत्र प्रभात 

 बाराबंकी उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा रोड के किनारे लगाए गए पौधों की सुरक्षा के लिए दोनों तरफ पिलर लगाकर तार खिचवाया गया था जिससे सभी पौधों की सुरक्षा हो सके जो पिलर एक सप्ताह पूर्व गायब करते हुए एक निजी फार्म हाउस पर पहुंचा दिया गया इसके संबंध में जब अधिकारियों से संपर्क किया गया तो समस्त जानकारी देने में बगले झांकते रहे पूरा मामला बाराबंकी जनपद के हरख रेंज का है जहां पर भान मऊ से नान मऊ रोड पर गायब हो गए और इसकी जानकारी विभाग के उच्च अधिकारियों को दी गई तो सभी उच्च अधिकारी लीपा पोती करने में 1 सप्ताह बिता दिए फिर भी सभी गायक पिलर नगरौरा के एक निजी फार्म हाउस पर एकत्रित पड़े पाए गए जहां पर कार्य कर रहे मजदूरों ने बताया कि फॉरेस्ट साहब का फार्म है जो सभी पिलर यहां लगाने के लिए लाए गए हैं वही इस संबंध में जब क्षेत्री वन अधिकारी से बात

हुई तो उन्होंने बताया यह प्लाटिंग करने वाले ने तोड़ा था जिसके ऊपर ₹100000 का जुर्माना वसूला गया है जांच करके बताएंगे जिला वन अधिकारी का कहना है सभी पिलर वन रेज हरख मे रखे गए हैं इन विभागीय अधिकारियों की बातों से ऐसा लग रहा है जैसे कि पिलर गायब करने में सभी की संलिप्तता जाहिर हो रही है पिलर गायब होने का यह कोई पहला मामला नहीं है बीते वर्षो भी एक वन विभाग के रिटायर्ड कर्मचारी द्वारा क्षेत्रीय वन दरोगा से लेकर अपने निजी फार्म हाउस पर लगवा दिया गया है कार्रवाई ना होने से क्षेत्र में चर्चा बनी हुईं है वन विभाग की लचर कार्यशैली से यह साबित हो रहा है कि सभी जिम्मेदार अधिकारी हैं प्रकरण में संलिप्त लोगों को बचाने में लगे हुए हैं क्योंकि पिलर गायब होने के तुरंत बाद सूचित कर दिया गया था लेकिन उनसभी गायब पिलरो को ठिकाने लगाने की कवायद की जा रही है 

   

FROM AROUND THE WEB