रौद्र रूप में आई घाघरा, गावों घुसा पानी

बाढ से ग्रामीण हुए भयभीत 
 
रौद्र रूप में आई घाघरा, गावों घुसा पानी 

स्वतंत्र प्रभात 

रामनगर बाराबंकी पहाड़ों पर लगातार बारिश होने के कारण नेपाल में नदियां उफान पर है। नदियों का पानी बैराजों से छोड़े जाने के कारण घाघरा नदी पूरे उफान पर पहुंच गई है I  जल स्तर बढ़ने के कारण प्रशासन ने सतर्कता बढ़ा दी है।जिले की रामनगर तहसील के कई गांव बाढ़ से घिर जाने के कारण अधिकांश ग्रामीण ने बन्धो पर अपना ठिकाना बना लिया है । दो दिनों से घाघरा का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है, जिससे हेतमापुर, बासूपुर, ललपुरवा, कोइलीपुरवा,मदरहा, बाबापुरवा, बबुरी, सुंदर नगर, बेलहरी,पारा,बेहटा,तपेसिपाह आदि बांध के आसपास वाले गांव में सरयू/घाघरा  नदी का पानी भर गया है ,लेखपाल ने बाढ प्रभावित क्षेत्र का दौरा कर लोगों को सतर्क रहने को कहा I बीते दो दिनों में घाघरा नदी ने करीब सैकड़ों बीघे से अधिक भूमि नदी में समाहित कर लिया है और कटान अब भी जारी है। नदी का पानी बांध की तरफ तेजी से बढ़ रहा है। बारिश होने के कारण पहाड़ी

नदियां उफान पर हैं। आज घाघरा नदी में  2 लाख 79 हजार क्यूसेक जल डिस्चार्ज हुआ है। जल आयोग के आंकड़ों के मुताबिक घाघरा खतरे के निशान 106.306 पर पहुंच गई हैं। जो खतरे के निशान से 23 सेंटीमीटर ऊपर बह रही हैं । सहायक अभियंता का कहना है कि नदी का जलस्तर दिन प्रतिदिन बढ़ रहा है। पूरी सतर्कता बरती जा रही है। वही अवर अभियंता कहते हैं कि बांध पर लगातार निगरानी की जा रही है बरसात के नाते जहां रेन कट हुए हैं उन्हें सही कराने का काम कराया जा रहा है। एसडीएम रामनगर तान्या ने बताया कि नेपाल क्षेत्र में बारिश होने से घाघरा का जलस्तर बढ़ा है। सभी क्षेत्रों में लोगों को सतर्क रहने के निर्देश दिए गए हैं  ताकि किसी भी विषम परिस्थिति में राहत बचाव कार्य तेजी से किया जा सके 

   

FROM AROUND THE WEB