साहब मुझे घर जाने दीजिए मुझे नहीं दर्ज कराना मुकदमा

मुकदमा नहीं दर्ज कराने की बात कहते हुए पीड़ित राम ने घर चला गया है 
 
साहब मुझे घर जाने दीजिए मुझे नहीं दर्ज कराना मुकदमा 

स्वतंत्र प्रभात 

सुल्तानपुर-साहब मुझे घर जाने दीजिए,मुझे कोई मुकदमा नहीं दर्ज कराना है। परदेस से घर लौट रहे सेल्समैन को गोसाईगंज पुलिस ने जांच के नाम पर इतना परेशान किया कि पीड़ित ने अपनी व्यथा कुछ इस तरीके से बयां कर खाकर से पीछा छुड़ाया।पूरा मामला सुल्तानपुर जिले के गोसाईगंज थाना क्षेत्र अंतर्गत जैतपुर गांव से जुड़ा हुआ है। जहां के स्थानीय निवासी राम नयन यादव गुजरात के कोटा में सेल्समैन का काम करते हैं। रविवार को वह कोटा से ट्रेन के जरिए सुल्तानपुर जंक्शन पहुंचे और वहां से बस स्टेशन वाहन पकड़ने के लिए आए। शातिर बदमाशों ने पीछा किया और गोसाईगंज थाना क्षेत्र

के इटकौली के निकट सुनसान स्थान पर उनका सामान छीन कर फरार हो गए। वायरलेस पर छिनैती (लूट) की घटना पर पुलिस सक्रिय हुई। प्रथम दृष्टया लूट को टप्पे बाजी पुलिस की तरफ से बताया गया। कोटा से घर लौट रहे हैरान-परेशान राम नयन जब गोसाईगंज थाने पहुंचे तो 2 घंटे तक उन्हें जांच के नाम पर थाने में बैठाया गया। ₹20 हजार और छोटे बच्चों के लिए ले जा रहे सामान से हाथ धोने के बाद हैरान-परेशान राम नयन गोसाईगंज पुलिस से कहा साहब हमें घर जाने दीजिए हमें कोई मुकदमा नहीं दर्ज कराना है।थानाध्यक्ष गोसाईगंज अनिरुद्ध सिंह कहते हैं कि पीड़ित और आरोपियों के बीच में जांच में प्रथम दृष्टया सेटिंग वेटिंग प्रतीत हो रही थी। मुकदमा नहीं दर्ज कराने की बात कहते हुए पीड़ित राम ने घर चला गया है। 

 

*

   

FROM AROUND THE WEB