मदरसों में भी गाया जाने लगा राष्ट्रगान। ​​​​​​​

राष्ट्रगीत गाने में किसी को ऐतराज नहीं करना चाहिये।अभी बच्चों को राष्ट्रगीत रटाया जा रहा है।राष्ट्रगीत गाने में किसी को ऐतराज नहीं करना चाहिये।अभी बच्चों को राष्ट्रगीत रटाया जा रहा है।
 
राष्ट्रगीत गाने में किसी को ऐतराज नहीं करना चाहिये।अभी बच्चों को राष्ट्रगीत रटाया जा रहा है।

स्वतंत्र प्रभात-

बिसवां(सीतापुर) उत्तर प्रदेश शासन के आदेश के अनुपालन में सभी मदरसों में राष्ट्रगीत जन गण मन अधिनायक जय हे....भारत भाग्य विधाता..............जय हे,जय हे, जय हे। जय जय जय जय हे। का प्रार्थना के समय गायन शुरू हो गया है जिसमें बच्चों सहित मदरसा के प्रबंधक व प्रधानाध्यापक (नाजिम) व अन्य अध्यापक भी शामिल होते हैं।

को सुबह 7:30 बजे  जहांगीराबाद के निकट दानपुरवा गांव के पास स्थित मदरसा दायरतुल मारिफ अल इस्लामिया तुल कास्मिया में छोटे छोटे बच्चों के साथ प्रबंधक मौलाना इस्लामुल हक (मौलाना इस्लाम), नाजिम रहमत अली व अध्यापक मौलाना सलीम,मौलाना इफ्तिखार, मास्टर सफीक, मास्टर सलाहुद्दीन, मुफ्ती मसीहुद्दीन व मास्टर एहसान राष्ट्रगान गाते हुये मिले। प्रबंधक मौलाना इस्लाम ने कहा कि मेरे मदरसे में राष्ट्रगान का गायन शुरू हो गया है और सरकार का यह अच्छा कदम है।राष्ट्रगीत गाने में किसी को ऐतराज नहीं करना चाहिये।अभी बच्चों को राष्ट्रगीत रटाया जा रहा है।

बिना मान्यता प्राप्त पचास वर्षों से कस्बे के बीचोबीच चल रहे तीन मंजिला विशाल इमारत में मदरसा इस्लामिया कन्जुल उलूम के नाजिम मौलाना हाजी नफीसुल हक मजाहिरी ने कहा कि यह आदेश मेरे जैसे विद्यालयों के लिये नहीं है यह केवल ग्रान्ट इन एड मदरसों पर लागू करने का है।उन्हें जब आदेश के बारे में बताया गया तब भी वह मानने को तैय्यार नहीं हुये।कस्बा स्थित मदरसा निस्वां में आज से शुरू हो रही यू.पी.मदरसा बोर्ड की परीक्षाओं के कारण आज प्रार्थना नहीं हुई किन्तु हेडमास्टर ने बताया कि मदरसे में आदेश आने के पहले से ही राष्ट्रगान गाया जा रहा है।

मदरसा आलमाइटी पब्लिक स्कूल, मदरसा महमूदिया व मदरसा तालिमुल इस्लाम के प्रधानाध्यापकों ने बताया कि मदरसों में अभी बच्चों की उपस्थिति बहुत कम है।अब एडमिशन शुरू हुये हैं।बच्चों के आने पर अनिवार्य रूप से राष्ट्रगान शुरू किया जायेगा।

FROM AROUND THE WEB