लंपी वायरस जागरूकता शिविर: किसान घबराएं नहीं, सावधानी बरतें

 शिविर लगाकर पशुपालकों को किया गया जागरूक 
 
लंपी वायरस जागरूकता शिविर: किसान घबराएं नहीं, सावधानी बरतें 

स्वतंत्र प्रभात 

कुमारगंज अयोध्या आचार्य नरेंद्र देव कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के पशु चिकित्सा एवं पशुपालन महाविद्यालय द्वारा बवां गांव स्थित प्राथमिक विद्यालय रतापुर में पशुपालक जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया। यह शिविर कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ बिजेंद्र सिंह व अधिष्ठाता के दिशा निर्देशन में लगाया गया। जिसमें लंपी वायरस से बचाव के लिए पशुपालकों को जागरूक किया गया। पशुपालन महाविद्यालय में कार्यरत डॉ हुकुमचंद बर्मा ने पशुपालकों को जागरूक करते हुए कहा कि लंपी वायरस से बचने के लिए पशुओं को स्वच्छ एवं साफ-सुथरे जगह पर रखें। उन्होंने कहा कि इस वायरस से किसी को घबराने की जरूरत नहीं, बल्कि सावधानी बरतने की जरूरत है।लंपी स्किन वायरस का लक्षण मिलने पर  शीघ्र नजदीक के पशु चिकित्सक की सलाह लें। उन्होंने कहा कि लंपी वायरस से बचाव के लिए पशुपालक

पशुओं का टीकाकरण अवश्य करवाएं। उन्होंने लंबी वायरस से बचाव के लिए घरेलू उपचार के बारे में भी बतायाइस दौरान चिकित्सक डॉ राजेश कुमार ने बताया कि पशुपालक लंपी वायरस से बचाव के लिए नीम की पत्ती का प्रयोग करें। डॉ राजेश ने बताया कि शरीर पर चेचक, नाक बहना, तेज बुखार आना, भूख नहीं लगना, दूध नहीं देना ये वायरस के लक्षण हो सकते हैं। उन्होंने बताया कि इससे पशुपालकों को घबराने की जरूरत नहीं है। डॉक्टर सुशांत श्रीवास्तव ने बताया कि आगे भी कई गांवों में जागरूकता अभियान चलाकर लंपी वायरस के प्रति पशुपालकों को जागरूक किया जागरूकता शिविर के दौरान डॉ. आर पी दिवाकर, डॉ राजेश वर्मा, प्रधान प्रतिनिधि बलवंत सिंह, काली राम यादव, राम कैलाश यादव, जय कुमार शुक्ल, तिलक राम यादव, राजा राम, राम अहोरे, शकील, देवता दीन, रामसनेही, अंतिम वर्ष के छात्र सहित अन्य जागरूक किसान, पशुपालकों ने प्रतिभाग किया ।


 

   

FROM AROUND THE WEB