नियमित योगाभ्यास से शरीर का ही नही मानसिक विकास भी होता है- धर्म चंद

 
नियमित योगाभ्यास से शरीर का ही नही मानसिक विकास भी होता है- धर्म चंद

स्वतंत्र प्रभात।
प्रयागराज ब्यूरो।


सीताराम सिंह इंटर कॉलेज  बाबूगंज प्रयागराज मैं आठवीं योग दिवस के उपलक्ष्य में योगाभ्यास कराया गया ।बच्चों को संबोधित करते हुए  योगाचार्य धर्म चंद जी ने कहा कि नियमित योगाभ्यास से हमारे शरीर का ही नहीं बल्कि मानसिक सामाजिक एवं आध्यात्मिक उन्नति भी होती है ।  योग के द्वारा हम शारीरिक रोग ही नहीं बल्कि मानसिक रोगों पर नियंत्रण पा सकते हैं इसके साथ ही सामाजिक समस्याओं से निजात भी मिलती है तथा भावनाओं में संतुलन आता है एवं आध्यात्मिक उन्नति होती है ।

योगाचार्य धर्म चन्द्र जी केंद्रीय योग प्रोटोकॉल के अनुसार योगाभ्यास का पूर्व अभ्यास कराया जिसमें प्रार्थना    ताड़ासन    तिर्यक ताड़ासन कटिचक्रासन वृक्षासन त्रिकोणासन  के साथ ही गोमुखासन पद्मासन सिद्धासन पश्चिमोत्तानासन मंडूकासन वज्रासन भुजंगासन धनुरासन आदि आसनों के अलावा सूर्य नमस्कार का अभ्यास कराया । एवं प्राणायाम में नाड़ी शोधन प्राणायाम भ्रामरी प्राणायाम कपालभाती प्राणायाम सूर्यभेदी प्राणायाम एवं अंत में बच्चों को ध्यान का अभ्यास कराया गया।

मौके पर उपस्थित विद्यालय के प्रधानाचार्य चंद्रशेखर सिंह ने बच्चों को नियमित रूप से योगाभ्यास कराने करने की  सलाह दी एवं प्रबंधक   बंश बहादुर सिंह जी  ने योगाचार्य एवं सभी बच्चों को योग दिवस की शुभकामनाएं व्यक्त किया ।  मौके पर विद्यालय के एनसीसी के प्रचार्य वेद प्रकाश भगत  ने कहा कि  योग एक अनुशासन है योगाभ्यास द्वारा हमारे जीवन में अनुशासन आता है। विनोद पाल   विजय सिंह आदि लोग उपस्थित रहे ।

   

FROM AROUND THE WEB