प्रधान पति और सचिव ने किया गया विनाश का विकास आवास

 दस लाख रुपए आवंटन से अंजान बने खंड विकास अधिकारी हैदरगढ़ 

 
प्रधान पति और सचिव ने किया गया विनाश का विकास आवास

स्वतंत्र प्रभात  

वर्ष 20 21 22 में नौ  लाभार्थियों  को आवास का लाभ दिया गया था परपृति लाभार्थी को एक लाख 20 हजार की धनराशि  दी गई थी समस्त धनराशि को ग्राम प्रधान के पति ने हडप कर लिया है आज भी सभी गरीब ग्रामीण पन्नी तानकर कीचड़ में गुजर बसर करते हैं*भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए भाजपा सरकार तरह तरह के उपाय अपनाती है लेकिन कुछ भ्रष्ट अधिकारियों और कर्मचारियों की संलिप्तता से भ्रष्टाचार रुकने का नाम नहीं ले रहा है जहां लाभार्थियों के सीधे खाते में उनकी लाभान्वित धनराशि पहुंचाने के लिए लाभार्थियोंथियों को तो बैंक अकाउंट से जोड़ दिया गया लेकिन  ग्राम प्रधान पति उन लाभार्थी को आजाद होकर स्वयं अपना कार्य नहीं करने दे रहा है पूरा मामला बाराबंकी जनपद के विकासखंड हैदरगढ़ की ग्राम पंचायत सिधियावा का है जहां पर ग्राम प्रधान पति ने विकासखंड हैदरगढ़ के उच्च अधिकारियों के साठ गांठ से लाभ  तो दे दिया परंतु उन पर दबाव बनाकर सारी धनराशि स्वयं सभी से ले लिया यहीं नहीं उन्हें झा सा देकर बताया गया कि तुम सब को हम आवास बना कर देंगे लेकिन काफी ज्यादा समय बीत जाने के बाद अभी भी किसी लाभार्थी को आवास की धनराशि वापस नहीं दिया  ग्राम पंचायत में कुल 9 लाभार्थी ऐसे हैं

जिनके आर्यावर्त ग्रामीण बैंक  शाखा सुबेहा से योजनाबद्ध तरीके से पैसा निकाल कर ले लिया गया और उन्हें सिर्फ लॉलीपॉप दिया गया और कहा गया किसी से शिकायत  करोगे तो आवास का पैसा तुम्हें वापस नहीं मिलेगा और ना ही आवास निर्माण होगा यही नहीं ग्राम प्रधान पति विक्रम सिंह तथा ग्राम पंचायत सचिव अमित राणा के सहयोग से 5 लाभार्थियों  के खातो से 20 अक्टूबर 2021को तीन लाख पचास हजार तथा 20 नवम्बर 2021 को साठ हजार तथा 5 जुलाई 2021 को दो लाख चालिस हजार कुल 6लाख पचास हजार का तीन दिनों में सुबेहा शाखा से लाभार्थियो पर दबाव बनाकर निकलवा लिया गया  लेकिन पैसा आवास बनाने के लिए उन लाभार्थियों को नहीं मिल सका समस्त निकाला गया पैसा ग्राम प्रधान पति विक्रम सिंह ने ले लिया कुल 9 आवास आवंटित हुए थे जिसमें से प्रतेक लाभार्थी का एक लाख 20 हजार रुपए के हिसाब से 10 लाख 80 हजार रुपए ग्राम प्रधान पति विक्रम सिंह ने समस्त रेशमा पत्नी बसावन, मोनू पुत्र गोली ,संतराम पुत्र भदेई , सत्तन बाबू पुत्र बईरु, पप्पू पुत्र सत्रोहन ,सोनू पुत्र गोली राकेश पुत्र भीखू, गुरु पुत्र कामता आदि लाभार्थियों से ले लिया और अब समस्त लाभार्थी आवास की आस मे लगे हुए हैं यही नहीं ग्राम प्रधान पति 10 ऐसे आवास है

जिनका प्लास्टर उखडवा कर उन्हें नया बनाना चाहते हैं और सारी रकम हडपना चाहते हैं यही नहीं सभी लाभार्थियो के आवासो की जिओ टेकिंग करते हुए ग्राम पंचायत सचिव अमित राणा ने अन्य गांवों के आवास को दिखाकर सभी के आवास की प्रक्रिया पूर्ण बताई यहां तक की मजदूरी का पैसा भी भुक्तान करा लिया और सिर्फ कागजों पर सभी की आवास आवंटित होकर पूर्ण होने की आख्या कर ब्लॉक के उच्च अधिकारियों को संतुष्ट कर दिया ब्लॉक के अधिकारी भी ग्राम पंचायत सचिव अमित राणा की झूठी रिपोर्ट पर ही संतुष्ट हो गए इस संबंध में जब खंड विकास अधिकारी हैदरगढ़ से जानकारी प्राप्त की गई तो उन्होंने बताया मामला हमारी जानकारी में नहीं है इस मामले को हम दिखवाएंगे यदि जिले के उच्च अधिकारी इस मामले को संज्ञान लेते हुए अच्छे से जांच कराएंगे तो ब्लॉक में बैठे कई जिम्मेदार अधिकारी भी इसकी रडार पर आ सकते हैं और जिले में होने वाले सबसे बड़े भ्रष्टाचार का खुलासा हो जाएगा में मीडिया के सामने हाथ जोड़ते हुए एक वक्त ने बताया कि साहब सारा पैसा प्रधान ले लिया है बरसात से बचने के लिए हम पन्नी तानकर गुजर बसर करते हैं और पैसा मांगने पर आवाज बनाने को बताया जा रहे हैं धीरे-धीरे काफी समय बीत गया है हमें लग रहा है कि अब हमें ना वास मिलेगा और ना ही पैसा मिलेगा साहब कुछ करा दीजिए

   

FROM AROUND THE WEB