भीषण अग्निकाण्ड में उजड़ गया कई परिवारों का आशियाना

- खुले आसमान के नीचे पेड़ो के सहारे सोने को मजबूर पांच परिवार

 
भीषण अग्निकाण्ड में उजड़ गया कई परिवारों का आशियाना

- खुले आसमान के नीचे पेड़ो के सहारे सोने को मजबूर पांच परिवार

कमासिन/बाँदा।

थाना अंतर्गत दादो चौकी क्षेत्र के ग्राम सांडी मजरा बीरा में सोमवार को लगी भीषण आग पांच परिवारों के घरों के जलने के साथ-साथ घर पर रखा गृहस्ती व सारा सामान जलकर राख हो गया है वही पांच मवेशी भी जिंदा जल गये है।फायर विग्रेड की गाड़ी यदि समय से पहुँच गयी होती तो एक दो घरो को छोड़कर बाकी सभी घरों को तबाही से बचाया जा सकता था सूचना के घण्टो बाद मौके पर पहुची है फायर ब्रिगेड तब तक ग्रामीणों व पुलिस बल द्वारा निजी नल कूपो के सहारे आग पर काबू पा लिया गया था।इस अग्नि कांड में अनाज कपड़े नगदी तथा जेवरात सब कुछ जल कर खाक हो गया है। 

अब केवल उनके पास वही कपड़े बचे हैं जो उन्होंने पहन रखे थे खेती बाड़ी कर के जीवन यापन करने वाले लोग अब इस तरह की भीषण गर्मियों में पेड़ो के सहारे खुले आसमान के नीचे रहने को मजबूर हैं तबाही के शिकार हुये लोग रामराज यादव पुत्र रामऔतार,शिवशरण पुत्र रामचरण, भोलिया पत्नी सतेंद्र, शिवशरण व रामशरण पुत्र भवानीदीन शामिल हैं हल्का लेखपाल द्वारा आग हुई छति का आंकलन कर प्रशासन को रिपोर्ट तो भेज दी गई है। 

लेकिन अभी तक पीड़ितों के पास न ही कोई जिले का जिम्मेदार अधिकारी शुध ली है न ही खाने व रहने का कोई इंतेजाम किया गया है,वही ग्राम प्रधान शकुंतला साहु व खटान कोटेदार सुनील यादव द्वारा पीड़ितों को खाने के लिये  गेहूं व चावल मुहैया करवाया गया है।वही पीड़ितों को एक टैंट की सख्त जरूरत थी।

   

FROM AROUND THE WEB