तीन बदमाश भाग खड़े हुए एक को घेराबंदी करके ग्रामीणों ने पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिय

जहां पुलिस तहरीर लेने के बाद मामले को ठंडे बस्ते में डाल देती है  देखना है पुलिस हमलावर की निशानदेही पर अन्य हमलावरों की गिरफ्तारी कब तक कर पाती है 
 
तीन बदमाश भाग खड़े हुए एक को घेराबंदी करके ग्रामीणों ने पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिय

 स्वतंत्र प्रभात 

  थाना क्षेत्र कुमारगंज की ग्राम सभा कटघरा के मजरे पूरे धगापुर निवासी रूप नारायण यादव गांव के पूरब अपने खेत में आटा चक्की लगाकर कारोबार करता है। जानलेवा हमला करने आए चार बदमाशों ने रूप नारायण यादव पर हमला कर मारने पीटने लगे तभी घर के अंदर से निकली उसकी पत्नी ने शोरगुल मचाया तो तीन बदमाश भाग खड़े हुए एक को घेराबंदी करके ग्रामीणों ने पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिय रूप नारायण यादव के अनुसार उनका बेटा राज बहादुर

यादव उर्फ राजू सोमवार को पूर्वाह्न करीब 11:30 बजे आटा चक्की पर गेहूं की पिसाई कर रहा था इसी बीच दो मोटरसाइकिल पर सवार चार युवक उसके आटा चक्की पर आ धमके। गाड़ी पर सवार चार बदमाशों में से एक बदमाश गाड़ी से नीचे उतर कर उसके बेटे राजबहादुर उर्फ राजू को बुलाकर कुछ बात करने लगा राजू जब तक कुछ समझ पाता कि चारों युवकों ने राजू को घसीट कर लात घुसों से मारना शुरू कर दिया और जबरन खींचकर गाड़ी पर बैठाने लगे चीख-पुकार सुनकर घर के अंदर बैठी राजू की पत्नी प्रेमा देवी पति की दशा देख गुहार लगाने लगी

जिस पर बगल धान के खेत में काम कर रही गांव की तीन महिलाएं गीता देवी, रामा देवी ,गायत्री देवी ,हाथ में हंसिया लेकर दौड़ पड़ी और बदमाशों की गाड़ी को घेर कर गुहार लगाने लगी। महिलाओं की माने तो गाड़ी पर सवार एक बदमाश ने महिलाओं पर असलहा तान दिया जिससे महिलाएं डर गई और अपनी जान बचाकर भागने लगी मौका पाकर चारों बदमाशों में से तीन बदमाश गाड़ी लेकर हलियापुर सुल्तानपुर की तरफ असलहा लहराते हुए भाग निकले वहीं ग्रामीणों ने घेराबंदी करते हुए पैदल भाग रहे एक बदमाश को दौड़ाकर पकड़ लिया।घटना की सूचना ग्रामीणों ने इलाकाई पुलिस कुमारगंज को दूरभाष पर  दी ।मौके पर पहुंची कुमारगंज पुलिस ने ग्रामीणों के बीच पकड़े गए बदमाश को गाड़ी पर बैठा कर थाने उठा लाई। जहां पुलिस ने पकड़े गए बदमाश से उसके अन्य साथी के बारे में सरगर्मी से पूछताछ करने लगी दूसरी ओर पीड़ित

परिजनों का कहना है कि पुलिस ने  राजू उर्फ राज बहादुर को थाने बुलाकर जुबानी तौर पर पूछताछ करते हुए बिना तहरीर लिए ही घर वापस भेज दिया। थाना प्रभारी कुमारगंज विवेक सिंह का कहना है कि परिजनों की ओर से अभी कोई तहरीर नहीं दी गई है फिल हाल पकड़े गए बदमाश के निशानदेही से उसके अन्य साथी के ठिकानों पर दबिश दी जा रही है। जहां उसके अन्य साथी को जल्द ही पकड़ लिया जाएगा ग्रामीणों की माने तो इसके पहले भी रूपनारायण के घर पर दो बार अन्य घटनाएं भी हो चुकी हैं। जहां पुलिस तहरीर लेने के बाद मामले को ठंडे बस्ते में डाल देती है। देखना है पुलिस हमलावर की निशानदेही पर अन्य हमलावरों की गिरफ्तारी कब तक कर पाती है?

   

FROM AROUND THE WEB