इंडियन बैंक शाखा नीमसार मे बैंक मित्र के चयन में हुई धांधली

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री माननीय योगी आदित्यनाथ जी व जिलाधिकारी सीतापुर को पत्र भेज कर बैंक मित्र चयन प्रक्रिया को निष्पक्ष करवाने की मांग करेगा जिसमें चयन में धांधली की गई है जिसकी जांच कराई जाए 
 
इंडियन बैंक शाखा नीमसार मे बैंक मित्र के चयन में हुई धांधली

स्वतंत्र प्रभात 

नैमिषारण्य सीतापुर बचपन में पढ़ा था किताबों में, की सफेदपोश भी होते हैं समाज में जब बड़े हुए, तो सब अच्छा नजर आ रहा था जब खुद पर बीती तब समझ में आया सफेदपोश भी चेहरे होते हैं जो बाहर से दिखने में कुछ और होते हैं जो अंदर से कुछ और होते हैं ।  आपको बता दें कि नैमिषारण्य मैं इंडियन बैंक शाखा जिसमें बैंक मित्र बनवाने के नाम पर धांधली होती है, 10 माह पूर्व फोन आता है हेलो मैं बैंक मैनेजर बोल रहा हूं इंडियन बैंक शाखा से मुझे तुम्हारा काम बहुत अच्छा लगता है तुम्हारा खाता मेंटेनेंस अच्छा रहता है इसलिए बैंक में आकर मिलो। बैंक पहुंचे तो बताया गया बैंक मित्र के पद खाली हैं अगर तुम काम करना चाहते हो तो कर लो बड़ी शौक से हमने भी कह दिया जी करना है ठीक है आज ही से काम पर लग जाओ बैंक के डॉक्यूमेंट अपलोड होने हैं जिन्हें अपलोड करवाओ लगातार तीन महीना बैंक में डॉक्यूमेंट अपलोड कराएं दो लड़के लगाए । सबको बहुत पसंद आए हम मैनेजर पवन कुमार जी का ट्रांसफर होने से पहले सारे डॉक्यूमेंट जिले पर भेज दिए गए उसके बाद नए मैनेजर साहब आए उन्होंने भी कहा बहुत

अच्छे लड़के हो तुम्हारा चयन जरूर कराया जाएगा।मगर आज दिनांक 2 सितंबर 2022 को वह काला दिन गुजरा की पैरों के नीचे से जमीन खिसक गई बैंक में बता दिया गया तुम्हारी वजह से दूसरा लड़का लगा दिया गया है बैंक मित्र में चयन हो गया है। जब पूछा गया किस आधार पर चयन हुआ किसी के पास जवाब नहीं किसी ने कहा हमें नहीं पता और मैनेजर को फोन किया गया उन्होंने भी कहा मुझे जानकारी नहीं वर्तमान मैनेजर ने कहा मुझे जानकारी नहीं जब किसी को जानता ही नहीं तो आखिर यह भर्ती कहां से हुई । पीड़ित अनीश निवासी लक्षिमन नगर, नीमसार जो

   

FROM AROUND THE WEB