गन्दगी के बीच बैठकर आँगनबाड़ी केन्द्र पर शिक्षा ग्रहण कर रहे नौनिहाल , अफसर बने अन्जान ​​​​​​​

जिम्मेदारी नगर पंचायत प्रशासन की है वही  जर्जर भवन की रिपोर्ट शासन को भेज दी गई है  स्वीकृत मिलने के बाद भवन का निर्माण कराया जायेगा  
 
गन्दगी के बीच बैठकर आँगनबाड़ी केन्द्र पर शिक्षा ग्रहण कर रहे नौनिहाल , अफसर बने अन्जान 

स्वतंत्र प्रभात 

हैदरगढ बाराबकी सरकार नन्हे-मुन्ने बच्चों को शिक्षित करने तथा कुपोषण से बचाने के लिये  प्रयासरत है तो इसके लिये आंगन बाडी केंद्र खोले गये है वही जिम्मेदार अधिकारियो की लापरवाही के चलते आगनबाडी केन्द्र दुर्दशा का शिकार है जर्जर भवन तथा गन्दगी के बीच बैठकर बच्चो को पढाई करनी पड़ रही है जिसकी तरफ जिम्मेदार अधिकारी ध्यान देना मुनासिब नही समझ रहे है ऐसा ही कुछ हाल नगर पंचायत सुबेहा के किला वार्ड मे खुले   आगनबाडी केन्द्र पर देखने को मिला  यहाँ पर प्रथम व द्वितीय दो केन्द्र चल रहे है जिसमे प्रथम केन्द्र पर हनीफा तथा द्वितीय पर डाली शाहू कार्यकत्री की तैनाती है बच्चो के बैठने के लिये  बना भवन काई से सना व विल्कुल गन्दा व मटमैला जो अपनी बदसूरती को बया कर रहा था तो फर्श भी जगह -जगह से टूटी पडी थी  अन्दर से लेकर बाहर तक गन्दगी बनी हुई थी परिसर मे जलभराव व काई जमी हुई थी बच्चे तो दूर यहाँ पर कोई भी आदमी रुकना न पसंद करेगा जलनिकासी तथा आने जाने के लिये कोई रास्ता तक नही है बच्चो को केन्द्र तक आने जाने मे परेशानी हो रही

है वही भवन के सामने ही परिसर मे ही दूषित जलभराव गन्दगी बनी हुई थी सक्रमित बीमारियो का खतरा भी बच्चो के सिर पर मडराता हुआ नजर आया काफी दिनो से भवन की रंगाई पुताई व मरम्मत न होने से फर्शो मे जगह -जगह दरार दिखी जहां पर कोई भी विषैला जीव जन्तु छिपकर बैठ सकता है और बच्चे हादसे के शिकार बन सकते है इसके बावजूद  जिम्मेदार अफसर कतई गम्भीर नही है ।सब जानते हुए अन्जान बने हुए है इस समस्या को दूर करने के लिये कोई कदम नही उठाया जा रहा है । वही इस समबन्ध मे सी डी पी ओ से बात की गई तो उनका कहना था की ज्यादातर केन्द्र जर्जर है वही जलनिकासी साफ सफाई तथा रास्ता के निर्माण करवाने की

   

FROM AROUND THE WEB