धारा 82 सीआरपीसी की कार्यवाही करते हुए मुनादी कराकर चस्पा की गयीं नोटिस

 
धारा 82 सीआरपीसी की कार्यवाही करते हुए मुनादी कराकर  चस्पा की गयीं नोटिस


मसौली बाराबंकी। 


प्रदेश के आलावा अन्य प्रांतों में धोखाधड़ी एव नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले संगठित गिरोह के वांछित अभियुक्तों के विरुद्ध न्यायालय के आदेश पर धारा 82 सीआरपीसी की कार्यवाही करते हुए मुनादी कराकर नोटिस चस्पा की गयीं।

बताते चले कि गत वर्ष गौशाला खुलवाने के नाम पर अनुदान का लालच देकर फर्जीवाडा करने वाले गैंग के वांछित सरगना को मसौली पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर उसी के घर से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। अभियुक्त के विरुद्ध प्रदेश के करीब 10 जिलों में धोखाधड़ी के आपराधिक मामले दर्ज है।

  ग्राम मलौली स्थित संकट मोचन पंचमुखी श्री हनुमान मंदिर के महंत सत्यनारायणानंद दास उर्फ फलाहारी बाबा को जन कल्याण ग्रामोत्थान नाम की सोसायटी के सदस्यों ने गौशाला खोलने का प्रस्ताव दिया और फर्जीवाड़ा करने वाले लोगों ने गौशाला खोलने के बदले में 67 लाख रुपए का अनुदान देने का लालच देकर संस्था के सरगना घनश्याम श्रीवास्तव एव प्रमोद मिश्रा ने महन्त से एक प्रतिशत प्रोसेसिंग फीस एव 5 हजार सदस्यता शुल्क के नाम पर 17 हजार नकद और 50 हजार रुपये की केनरा बैंक की एक चेक लेकर महन्त को 35 लाख की फर्जी चेक दी। 

महन्त द्वारा दी गयी चेक को गैंग के सरगना घनश्याम ने अपने एसबीआई अकाउंट में डालकर  पैसे निकाल लिये। दूसरे दिन संस्था के सदस्यों ने महन्त को पुनः 23 लाख 45 हजार रुपये की चेक दी महन्त ने जब उक्त चेक को अपने खाते में लगाया तो पता चला कि खाते में मात्र 14 हजार 5 सौ ही रूपये है जिससे दोनों चेक वापस हो गयी। संस्था के सदस्यों ने भाजपा नेता रामबाबू द्विवेदी से भी 35,000/- रुपये नकद व 67,000/- रुपये की चेक लेकर धोखाधड़ी की। 

फर्जी चेको का भुगतान न होने पर पता किया गया तो  जन कल्याण एवं ग्रामोद्योग सेवा संस्थान फर्जी है । 18 सितम्बर को महन्त सत्य नारायण शुक्ला की तहरीर पर सरगना घनश्याम श्रीवास्तव सहित मीनाक्षी मिश्रा, प्रमोद मिश्रा , दीपक श्रीवास्तव व दिलीप श्रीवास्तव के विरुद्ध धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया गया था।
           
【 प्रदेश के करीब दस जनपदों में धोखाधड़ी के मामले दर्ज 】

अपर पुलिस अधीक्षक उत्तरी अवधेश सिंह ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि अभियुक्त एक संगठित गैंग बनाकर जन कल्याण एवं ग्रामोद्योग सेवा संस्थान के नाम पर लोगों से  पशुपालन, मत्सपालन, गोशाला, दुकान/संस्थान खोलने के नाम पर अनुदान व बाल पुष्टाहार विभाग में नियुक्ति पत्र जारी करने का प्रलोभन देकर व अग्रिम चेक देकर कुल राशि का 6 प्रतिशत एडवान्स लेने का अवैध कार्य किया जा रहा है ।

 अपर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि घनश्याम श्रीवास्तव द्वारा अपने सहयोगी मीनाक्षी मिश्रा, प्रमोद मिश्रा व अपने पुत्र दीपक श्रीवास्तव व दिलीप श्रीवास्तव कई लोगों गठित गिरोह बनाकर प्रदेश के करीब दस जिलों सहित दिल्ली, हरियाणा, पंजाब में  लालच देकर फर्जी लाखों, करोडों रुपये का चेक जारी कर 6 प्रतिशत अग्रिम कैश की वसूली के मामले दर्ज है। पुलिस अन्य जनपद/राज्य में किये गये अपराध के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी की जा रही है।

     【 मुनादी कराकर नोटिस चस्पा 】

प्रभारी निरीक्षक पंकज कुमार सिंह के निर्देश पर रविवार को थाना मसौली के वरिष्ठ उपनिरीक्षक राम कृपाल सिंह ने सहयोगी पुलिसकर्मियों के साथ मुकदमे में वांछित अभियुक्त  दिलीप श्रीवास्तव व रितेश श्रीवास्तव पुत्रगण घनश्याम श्रीवास्तव निवासीगण 19/20 शिव विहार कॉलोनी मिर्जापुर थाना जानकीपुरम लखनऊ व मीनाक्षी मिश्रा पत्नी प्रमोद कुमार मिश्रा निवासी 616/8 सेमरा गौढ़ी आई आई एम रोड थाना मड़ियांव लखनऊ के आवास पर मुनादी कराकर नोटिस चस्पां की गयीं।

FROM AROUND THE WEB