खड्डा : स्वास्थ्य विभाग के घोटालेबाज कर्मचारियों पर मुकदमा दर्ज अब कुंडली खंगालने में जुटी पुलिस

स्वास्थ्य विभाग घोटाला
 
खड्डा
खड्डा की बड़ी खबर 
खड्डा,कुशीनगर। खड्डा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर रोगी कल्याण निधि और जेएसवाई योजना के लगभग 17 लाख का धन बिना लाभार्थी मरीजो के मिले फर्जी तरीके से घपला कर घोटाला के मामले में खड्डा पुलिस ने प्रभारी चिकित्सा अधिकारी की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।अभियोग पंजीकृत कर पुलिस आरोपियों की कुंडली खंगालनी शुरू कर दी है।

बताते चले कि खड्डा स्वास्थ्य विभाग के सीएचसी में वित्तीय वर्ष 20-21 में गलत तरीके से बिल वाउचर लगाकर रोगी कल्याण व जेएसवाई योजना में गलत तरीके से मिलीभगत कर लगभग 17 लाख का भुगतान करा लिया गया। इसकी शिकायत होने पर जांच टीम ने मौके पर कोई काम नहीं होने का जिक्र किया है। 

इस बात का खुलासा तब हुआ जब 10 सितंबर 2021 को सीएमओ और डीएम को भेजे गए पत्र में प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ संतोष गुप्ता ने लिखा है कि 23 अगस्त 2021 को कार्य योजना का निरीक्षण किया गया तो जेएसवाई एडमिन में ₹392000 लाख खर्च व रोगी कल्याण समिति का 13 लाख का खर्च दिखाया गया है। लेकिन असल में कुछ नहीं हुआ है।

सरकारी धन के घोटाल के बावत जांचोपरांत सीएमओ डा.सुरेश के निर्देश के क्रम में प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर संतोष गुप्ता ने थाने पर तहरीर सौंप मुकदमा दर्ज किए जाने की मांग की थी। खड्डा पुलिस ने ब्लॉक कम्युनिटी प्रोसेस प्रबंधक (बीसीपीएम) विजय गुप्ता व लेखाकार नवीन पटेल के विरुद्ध वित्तीय अनियमितता का मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

इस संबंध में पूछने पर प्रभारी निरीक्षक खड्डा धनवीर सिंह ने बताया है कि बीसीपीएम विजय गुप्ता व लेखाकार नवीन पटेल के विरुद्ध अभियोग दर्ज कर विवेचना की जा रही है। जांच में दोषी सभी के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

   

FROM AROUND THE WEB