अव्यवस्थाओं के बीच संचालित किए जा रहे प्राथमिक विद्यालय शिक्षक और शिक्षार्थी परेशान

स्कूल में लगी पानी की टंकी तक भी टूटी फूटी है, टंकी में पानी न होने से छोटे छोटे बच्चो को शौच के लिए बहुत समस्याएं होती है 
 
अव्यवस्थाओं के बीच संचालित किए जा रहे प्राथमिक विद्यालय शिक्षक और शिक्षार्थी परेशान 

स्वतंत्र प्रभात 

हैदरगढ़ बाराबंकी जिले के सरकारी विद्यालयों में लगातार संसाधन बढ़ाए जा रहे हैं, लेकिन इन संसाधनों का लाभ स्कूलों में जाने वाले नौनिहालों को नहीं मिल पा रहा। भीषण गर्मी में जब तापमान 45 डिग्री तक पहुंच रहा है।बच्चे बिना पंखे के गर्मी में क, ख, ग पढ़ रहे हैं।स्कूलों में पंखे चलाने के लिए कोई अन्य वैकल्पिक इंतजाम भी नहीं है। छात्र ही नहीं शिक्षक-शिक्षिकाएं स्वयं भी पंखे न चलने से परेशान होते हैं। ऐसे में वे स्कूल के बरांडे में बच्चों को बैठाकर पढ़ाते हैं। इस पर शासन प्रशासन और शिक्षा विभाग के अधिकारियों का कतई ध्यान नहीं है। हम बात कर रहे है बाराबंकी जनपद के हैदरगढ़ शिक्षा 

क्षेत्र अंतर्गत ग्रामसभा सिधियावां के प्राथमिक विद्यालय इमाम अली का पुरवा की जहां पर न तो आधुनिक शौचालय में साफ सफाई,जो स्वच्छ भारत मिशन की धज्जियां उड़ा रही है,वही न तो रसोईघर में दरवाजे लगे हुए है और न ही लाईट की कोई व्यवस्था है जब इसके संबंध में विद्यालय इंचार्ज से बात की गई तो उन्होंने बताया कि हमने तीन बार जेईई (पॉवर हाउस पलिया) को प्राथमिक विद्यालय में बिजली लगवाने के लिए शिकायत पत्र दिया लेकिन अभी तक यहां कोई बिजली का तार नही पहुंचा न ही कोई कनेक्शन हुआ,उन्होंने बताया की इस भीषण गर्मी में बच्चो के साथ साथ वो भी परेशान होते है लेकिन सबंधित अधिकारी उस पर ध्यान नहीं दे रहे है।

   

FROM AROUND THE WEB