फीस वृद्धि के विरोध मेंं अनशन पर बैठा छात्र हुआ बेहोश

छात्रसंघ भवन के मुख्य द्वार पर लगा ताला छात्रों ने तोड़ा 
 
फीस वृद्धि के विरोध मेंं अनशन पर बैठा छात्र हुआ बेहोश 

स्वतंत्र प्रभात।

प्रयागराज इलाहाबाद विश्वविद्यालय प्रशासन ने परिसर में गधा लाने की घटना के बाद छात्रसंघ भवन का गेट बंद कर दिया था। वहां सुरक्षा कर्मी तैनात किए गए थे जो किसी बड़े वाहन के आने की स्थिति में मुख्य गेट को खोल सकें।साथ ही बगल का छोटा गेट सुबह 9:00 से शाम 4:00 बजे तक खोलने के निर्देश दिए गए थे। शुक्रवार को यह विवाद तब शुरू हुआ जब आमरण अनशन पर बैठे एक छात्र की तबीयत खराब हो गई। छात्र को एंबुलेंस में बैठाने के लिए गेट की चाबी खोजने में समय लग गया।छात्रों ने कहा कि ऐसी स्थिति में जब तुरंत उपचार की आवश्यकता होती है तब विश्वविद्यालय प्रशासन के इस फैसले के कारण बीमार छात्र को कुछ देर इंतजार करना पड़ा।

एंबुलेंस में छात्रको बैठाने के बाद गुस्साए छात्रों में मुख्य द्वार को धक्का देकर तोड़ दिया।जिस हुक में ताला लगता था उसको भी डंडे मार कर छात्रों ने तोड़ दिया।इस दौरान छात्रों सुरक्षाकर्मियों के बीच जमकर नोकझोंक भी हुई।आक्रोशित छात्रों ने कहा कि इलाहाबाद विश्वविद्यालय प्रशासन जब भी छात्रसंघ भवन के गेट को बंद करेगा छात्र उसको इसी तरह से तोड़ कर खोल देंगे। छात्रसंघ भवन का गेट तोड़े जाने की सूचना सुरक्षाकर्मियों ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय प्रशासन को भेज दी है।

   

FROM AROUND THE WEB