बीआरसी कार्यालय पर डंप पड़ी पाठ्य पुस्तकेंकैसे हो छात्र-छात्राओं की पढ़ाई

तिमाही परीक्षा का समय भी आया करीब  
 
बीआरसी कार्यालय पर डंप पड़ी पाठ्य पुस्तकेंकैसे हो छात्र-छात्राओं की पढ़ाई 

स्वतंत्र प्रभात 


मिल्कीपुर, अयोध्या परिषदीय विद्यालयों में तिमाही परीक्षा का समय भी नजदीक आ गया है। आगामी माह में तिमाही परीक्षाएं भी प्रस्तावित हैंं। लेकिन अभी तक सभी बच्चों को सरकार की ओर से उपलब्ध कराई गई नि:शुल्क पाठ्यय पुस्तक खंड शिक्षाधिकारी मिल्कीपुर की लापरवाही के चलते विद्यालयों तक नहीं पहुंच सकी हैं। परिषदीय विद्यालयों में अध्ययनरत नौनिहालों मे वितरण हेतु प्राप्त कराई गई पाठ्य पुस्तकें बीईओ कार्यालय इनायत नगर स्थित प्राथमिक विद्यालय इनायत नगर के एक कमरे में डंप पड़ी हुई है। बताते चलें कि अप्रैल माह में नया शैक्षणिक सत्र शुरू होने के बाद से विद्यार्थी पुरानी किताबों से ही काम चला रहे थे।

करीब 5 माह बाद मिल्कीपुर खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय पर कुछ किताबें प्राप्त हुई है। लेकिन जिम्मेदार अधिकारियों की लापरवाही के चलते यह पुस्तकें अभी तक स्कूलों तक नहीं पहुंच सकी है। बीआरसी कार्यालय मिल्कीपुर के हाल में डंप किताबों को संबंधित विद्यालयों तक विभाग की ओर से पहुंचाए जाने की व्यवस्था है। लेकिन अभी तक जिम्मेदार अधिकारियों ने इस दिशा में कोई पहल नहीं की है और शिक्षकों में सुबगुबाहट है कि उन्हें किताब लाने के लिए स्वयं ही बीआरसी केंद्र जाना पड़ेगा। ऐसे में सरकार के उस नि:शुल्क ट्रांसपोर्टेशन आदेश की हवा भी निकल चुकी है। विद्यालयों तक पाठ्य पुस्तकों को भेजे जाने की व्यवस्था है।

मिल्कीपुर तहसील क्षेत्र के अमानीगंज, हैरिंग्टनगंज व मिल्कीपुर विकासखंड के 475 परिषदीय विद्यालयों में 61208 विद्यार्थी पंजीकृत है। शासन द्वारा सभी छात्र छात्राओं को किताबें वितरित करनी हैं। अमानीगंज और मिल्कीपुर शिक्षा क्षेत्र स्थित परिषदीय विद्यालयों में किए जाने हेतु 70 प्रतिशत किताबे प्राप्त हुई है। बीते दो सत्रों से इन बच्चों को समय पर किताबें ही नहीं मिल पा रही है। वहीं इस वर्ष सितंबर माह में किताबें आना शुरू हुई है। अभी तक सभी किताब नहीं आई है। जबकि इसी माह के अंत तक तिमाही परीक्षा की होनी है।

   

FROM AROUND THE WEB