अघोषित बिजली कटौती से लोग परेशान

बिजली कटौती ने लोगों की रात की नींद और दिन का चैन छीन लिया हैं वही छोटे उद्योग व बिजली पर निर्भर दुकानदारों में बिजली निगम के प्रति खासा गुस्सा व्याप्त है अघोषित बिजली कटौती ने पेयजलापूर्ति को भी बिगाड़ दिया है

 
अघोषित बिजली कटौती से लोग परेशान

स्वतंत्र प्रभात

पचपेड़वा बलरामपुर  उमस भरी गर्मी और ऊपर से लगातार हो रही बिजली की कटौती ने लोगों का जीना मुहाल कर दिया है। मंगलवार को भी सुबह आठ बजे के बाद  बिजली गुल हो गई। बिजली गुल होने के बाद पता नहीं होता है कि बिजली दोबारा कब आएगी। कभी कभी 24 घंटे भी बिजली नहीं रहती है दिन हो या रात बस लोगों को अघोषित बिजली कटौती का ही भय सताता रहता है कि बिजली ना जाने कब गुल हो जाए। बिजली कटौती के कारण लोगों की पूरी दिनचर्या खराब होकर रह जाती है। उमस भरी गर्मी से छोटे बच्चे, महिला और बुजुर्गों को भारी कठनाईयों का सामना करना पड़ता है। खासकर

ग्रामीण क्षेत्र में बिजली की अघोषित कटौती से ग्रामीणों में सरकार के प्रति रोष व्याप्त है। बिजली विभाग द्वारा ग्रामीण क्षेत्र के लिए बनाए गए शेड्यूल के अनुसार भी बिजली उपलब्ध नहीं हो पा रही है जिसके कारण आजकल पड़ रही चिपचिपाती गर्मी और अघोषित बिजली कटौती ने लोगों की रात की नींद और दिन का चैन छीन लिया हैं। वही छोटे उद्योग व बिजली पर निर्भर दुकानदारों में बिजली निगम के प्रति खासा गुस्सा व्याप्त है। अघोषित बिजली कटौती ने पेयजलापूर्ति को भी बिगाड़ दिया है।

   

FROM AROUND THE WEB