लफ़्ज़ों का कारवां कार्यक्रम का अनूठा आयोजन,युवाओं ने स्वरचित रचनाएं सुनाकर महफिल लूटी !

बहादुरगंज स्थित पायल डांस इंस्टीट्यूट में हुए ओपेन माइक कार्यक्रम में युवा प्रतिभागियों की काव्यमय ऊर्जा से सभी मंत्रमुग्ध हो गये।
 
लफ़्ज़ों का कारवां कार्यक्रम का अनूठा आयोजन,युवाओं ने स्वरचित रचनाएं सुनाकर महफिल लूटी !

सभी प्रतिभागी रचनाकारों ने कविता एवं गीत-ग़ज़लों को शानदार ढंग से सुनाया। आज के कार्यक्रम में कवि अरूण प्रताप सिंह भदौरिया ने सुनाया -काश किसानों की देहरी पर खुशियों के दीये जला सकते।

 

 स्वतंत्र प्रभात 
 शाहजहांपुर। 

लफ़्ज़ों का कारवां के तहत ओपेन माइक कार्यक्रम में युवाओं ने स्वरचित रचनाएं सुनाकर महफिल को लूट लिया। रविवार को संयोजक अमरजीत सिंह के संचालन में बहादुरगंज स्थित पायल डांस इंस्टीट्यूट में हुए ओपेन माइक कार्यक्रम में युवा प्रतिभागियों की काव्यमय ऊर्जा से सभी मंत्रमुग्ध हो गये। अतिथि कवि अरूण प्रताप सिंह भदौरिया, राशिद हुसैन राही जुगनू, डा. विकास ख्ुाराना, डा. विशाल पांडेय, अमित त्यागी, विकास भारती व सैफ़ असलम ख़ान, मयंक गुप्ता ने युवा रचनाकारों का उत्साह वर्धन करते हुए कहा कि आज की युवा पीढ़ी को अगर सही मार्गदर्शन मिले, तो उनमें अपार संभावनाएं है। युवा अपने हौसले के पंखों से अपने ख्वाहिशों के आसमान को नापना चाहते है।सभी प्रतिभागी रचनाकारों ने कविता एवं गीत-ग़ज़लों को शानदार ढंग से सुनाया। 

आज के कार्यक्रम में कवि अरूण प्रताप सिंह भदौरिया ने सुनाया -काश किसानों की देहरी पर खुशियों के दीये जला सकते। भूमिपुत्र को सम्मान से हम जीने का हक दिला सकते। राशिद हुसैन राही जुगनू ने कहा-मैं कैसे शुक्रिया भेजूं मैं कैसे दूं कोई तोहफा। जमाना है बड़ा जालिम लगा देगा कोई तोहमत। डा. विशाल पांडेय ने सुनाया-तुम्ही से इश्क है मेरा, तुम्ही से दुश्मनी मेरी। कभी गले से लगाता, कभी खंजर दिखता है। अमित त्यागी ने सुनाया- भरी हुई आंखों में अक्सर यादें तैरा करती हैं।

 नम आंखें लफ़्ज़ों में ढल कर नज्मों को घेरा करती हैं। डा. विकास खुराना, विकास भारती, लवी सिंह मैस्टन आदि ने भी रचनाएं सुनाकर सबका दिल जीत लिया। इनके अलावा विकास पाल, नजमुददीन, सचिन शर्मा, अमरजीत सिंह, जैनुल कादरी, शादाब हैदरी, विनय प्रताप सिंह, ईशा गौर, आयुष वाजपेई, आामिर इस्माइल, फुरकान खां, कामरान, प्रशांत मोहित, आदेश राठौर, अभिषेक आदि युवाओं की कविताओं  को श्रोताओं ने बहुत चाव से सुना। और तालियां बजाकर हौसला अफजाई की। आयोजन में टीम के अमरजीत सिंह, सोना कन्नौजिया, रिबेल, उत्पल सिंघानिया, प्रिया राठौर, साहित्य सिंह का सहयोग रहा। कार्यक्रम में टीम लीडर अमरजीत सिंह व सदस्यों ने सभी अतिथियों का बैच लगाकर स्वागत किया।

FROM AROUND THE WEB