गंगाजल लेकर शिवालयों की ओर रवाना, भोले बाबा के भजनों पर थिरके, हर हर महादेव की गूंज

 
स्वतंत्र प्रभात

स्वतंत्र प्रभात
अंबेडकरनगर।

यह आस्था है या फिर भक्ति में थिरकन का तड़का। जो भी फिलहाल योगी सरकार के फरमान पर कावंरियों की भक्ति की शक्ति भारी पड़ रही है। हरदोई होकर निकलने वाले कांवरियों के जत्थों में शामिल तमाम कांवरिये संगीत की स्वर लहरियों पर थिरकते हुए नजर आते हैं जो लोगों के लिए उत्सुकता का विषय बने हैं।कांवड़ यात्रा में पुरुष महिलाएं व बच्चे हर्षोल्लास के साथ कंधे पर कांवड़ लेकर निकले। बच्चे भी बम बम भोले हर हर महादेव के नारे भी लगाते दिखाई दिए। कांवरों व वाहनों पर तिरंगा झडा लगाकर कांवरिये भोले की भक्ति में तल्लीन नजर आ रहे हैं।कांवड़ लेकर बम बम भोले के नारे लगाते हुए रवाना हुए।

डीजे की धुन पर कांवड़ियां थिरकते दिखाई दिए। सड़कों पर चारों ओर बम बम भोले की धुन पर मस्त दिखाई दे रहे।हर गली मुहल्ले से कांवरियों की टोली शिव शंकर के जयकारों के साथ रवाना होते रही, जिससे अंबेडकर नगर जनपद भोले के रंग में रंगी नजर आई। हर तरफ भोले की गूंज के साथ केसरिया रंग दिख रहा था। ऐसा लगा जैसे जनपद अंबेडकरनगर से भगवान शिव की बारात निकल रही हो।कावरियों का विहंगम दृश्य नजर आएगा। पैर रखने को भी जगह नहीं मिल रही थी, जितने कावरिये गुजरे, उससे कई गुना भीड़ उन्हें देखने के लिए आई थी। शिवभक्तों ने जहां विश्राम किया वहीं भोले के भजनों की धुन पर जमकर थिरके। वहीं दूसरी तरफ शहर की सड़कें केसरियामय हो गई थीं।

कावरियों का जत्था अपनी मंजिल तक पहुंचने के लिए तेज गति से बढ़ रहे था। बम बम भोले और देशभक्ति गीतों के साथ रविवार को कांवरिया पथ गूंज उठा।कावरिये डीजे पर बम-बम भोले व स्वतंत्रता दिवस को देखते हुए देश भक्ति गीतों पर झूमते हुए अयोध्या की ओर रवाना होते दिखाई दिए। कावरियों के हाथ में भगवा ध्वज के साथ तिरंगा भी दिखाई दिया।
अधिकारियों ने इस अवसर पर अपनी अभिव्यक्ति व्यक्त करते कहा की मानव सेवा से बड़ा कोई सेवा नहीं है। पुलिस सेवा भावना से तो हमेशा काम करती है एवं ऐसा करने का कम ही मौका मिलता है जब बाबा भोलेनाथ के भक्तों की सेवा कर सकूं।

   

FROM AROUND THE WEB