मंडलायुक्त ने इंटीग्रेटेड कोविड कमांड सेंटर का किया निरीक्षण

 
Swatantra prabhat
 

स्वतंत्र प्रभात
अंबेडकरनगर।मंडलायुक्त अयोध्या मंडल अयोध्या नवदीप रिणवा द्वारा जिलाधिकारी सैमुअल पॉल एन, मुख्य विकास अधिकारी घनश्याम मीणा तथा मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ श्रीकांत शर्मा तथा मुख्य चिकित्सा अधीक्षक की उपस्थिति में महात्मा ज्योतिबा फुले संयुक्त जिला चिकित्सालय तथा मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय स्थापित इंटीग्रेटेड कोविड कमांड सेंटर का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान मंडलायुक्त द्वारा अस्पताल में बूस्टर डोज वैक्सीनेशन कक्ष, 15 से 18 वर्ष के किशोरों का प्रथम डोज वैक्सीनेशन कक्ष,18 वर्ष से अधिक वैक्सीनेशन कक्ष तथा लगाए गये ऑक्सीजन प्लांट का जायजा लिया गया। वैक्सीनेशन की जानकारी एव कक्ष में जाने के लिए बाहर एव वैक्सीनेशन कक्ष के मुख्य द्वार पर पोस्टर लगाए जाने का निर्देश मुख्य चिकित्सा अधिकारी को दिया गया।जिससे व्यक्तियों को वैक्सीनेशन के लिए इधर-उधर भटकना न पड़े। 

मंडलायुक्त द्वारा आईसीयू वार्ड, डेंगू वार्ड तथा डायलिसिस वार्ड का जायजा लिया गया। मंडलायुक्त द्वारा डायलिसिस वार्ड में उपस्थित डायलिसिस कराने के लिए आए मरीज के पति रामनिरंजन चौहान से जानकारी लिया गया। रामनिरंजन चौहान ने अवगत कराया कि मैं यहां पर अपनी पत्नी का डायलिसिस कराने महीने में दो बार आता हूं यहां पर मेरी पत्नी का डायलिसिस निःशुल्क में किया जाता है। इसके पहले मैं लखनऊ में डायलिसिस कराता था वहां पर एक बार में मुझे ₹2500 देना पड़ता था। मंडलायुक्त ने कहा कि डॉक्टर की सलाह से बराबर डायलिसिस कराते रहें, जिससे मरीज को कोई परेशानी न हो। मंडल आयुक्त द्वारा मुख्य चिकित्सा अधिकारी का निर्देश दिया गया कि कोविड बैनर को सही स्थान पर लगाने की आवश्यकता है। इसके उपरांत मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय में लगे थर्मल मशीन को देखा गया परंतु मशीन ठीक नहीं पाई गई इसकी रीडिंग सही नहीं आ रही थी। थर्मल मशीन को अर्जेस्टमेंट कराते हुए मशीन की रीडिंग सही कराने के लिए मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देशित किया गया। मंडलायुक्त द्वारा टेलीमेडिसिन कक्ष का जायजा लिया गया। वहां पर उपस्थित चिकित्सक डॉक्टर प्रतिमा सिंह से मेडिसिन के बारे में जानकारी ली गई तथा रजिस्टर मेंटेन करने का निर्देश भी दिया गया। मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया है कि टेलीमेडिसिन 13 जनवरी 2022 से शुरू की गई है। मंडल आयुक्त द्वारा इंटीग्रेटेड कोविड कमांड सेंटर में लगाए गए कर्मचारी से दिए गए कार्य के बारे में जानकारी लिया गया। मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि ये कर्मचारी इंटीग्रेटेड कोविड कमांड सेंटर से जो व्यक्ति वैक्सीनेशन की दूसरे डोज नहीं लगवाए हैं उनको फोन करके जानकारी देना तथा कोविड पॉजिटिव मरीज का प्रतिदिन हाल-चाल पूछने का कार्य करते हैं। यदि मरीज को कोई दिक्कत होती है तो आरआरटी टीम को वहां भेज कर उनकी समस्याओं का निस्तारण कराया जाता है। मंडल आयुक्त महोदय द्वारा बनाए गए कोविड से संबंधित विभिन्न प्रकार के रजिस्टरो का निरीक्षण किया। वैक्सीनेशन की प्रगति को बढ़ाने हेतु स्ट्रा कर्मचारी तथा मोबाइल लगाने का निर्देश से मुख्य चिकित्सा अधिकारी को दिया गया।

FROM AROUND THE WEB