महिला को झांसा देकर डेढ़ लाख के जेवर ले उड़े टप्पेबाज

गोरखपुर जिला अस्पताल परिसर में हुई घटना, अस्पताल की सीसीटीवी में कैद हुई टप्पेबाजों की हरकत

 
महिला को झांसा देकर डेढ़ लाख के जेवर ले उड़े  टप्पेबाज

स्वतंत्र प्रभात 

गोरखपुर  अस्पताल में इलाज के लिए पहुँची साधना देवी (66 वर्ष) टप्पेबाजों की शिकार हो गई टप्पेबाजों ने उन्हें लालच देकर गुमराह कर लिया। साधना देवी जब तक टप्पेबाजों की असलि जान पाती,  अपने डेढ़ लाख के जेवरात गवा चुकी थी। इसके बाद उन्होंने शोर मचाया तो आसपास के लोग इकट्ठा हुए। मामला समझने के बाद लोगों ने पुलिस को सूचना दिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने जिला अस्पताल परिसर में लगे सीसीटीवी कैमरे को खंगाला। सीसीटीवी में दो युवक साधना देवी को बहला-फुसलाकर उनसे उनके जेवर लेते हुए दिखाई दिये। मामले का संज्ञान लेते हुए पुलिस पुलिस महिला को अपने साथ थाने ले गई।दरअसल, कोतवाली थाना के जुबली रोड स्थित एमजी गली की निवासी साधना देवी पत्नी मुरारी गौड जिन्हें हार्ट की समस्या थी। पिछले कई दिनों से बीमार चल रही थी। बुधवार को वह जिला अस्पताल में इलाज के लिए पहुंची थी। हृदय विभाग की ओपीडी में दिखाने के बाद डॉक्टर ने ईसीजी, खून की जांच और एक्सरे कराने की सलाह दी। ईसीजी और खून की जांच उन्होंने करवा लिया फिर एक्सरे

जांच के लिए पहुची तो मशीन में आई तकनीकी खराबी की वजह से उनका एक्सरे नहीं हुआ। दोपहर बाद वह पैदल ही महिला अस्पताल की तरफ से हठ्ठी माई के स्थान तक पहुंची थी। इसी दौरान उनसे अज्ञात एक युवक ने अपने आप को भूखा बता कर 20 रुपये मांगे। उसी दौरान वहा दूसरा युवक भी पहुंच गया। जिसने पहले युवक को 20 रुपये दिया और साधना देवी को भी पैसे देने के लिए प्रेरित किया। इन्होंने अपना पर्स देखा तो उसमें पांच सौ की नोट थी। साधना देवी ने पैसे नहीं दिए। जिसके बाद दूसरे युवक ने अपनी जेब से दो-दो हजार की चार गड्डी निकाली और दूसरे जेब से रुमाल में रखे जेवर निकाले जिसे पहले युवक को दे दिया। उसने महिला से कहा कि मेरे पास और रुपए होते तो इस गरीब को दे देता। यह देख कर महिला लालच में आ गई। महिला ने दूसरे युवक से कहा कि मैं भी बहुत गरीब हूं। मुझे भी पैसों की जरूरत है।
हार्ट के इलाज के लिए मुझे रुपए चाहिए। यहां जिला अस्पताल में एक्स-रे नहीं हुआ। इसलिए मैं वापस जा रही थी। दूसरे युवक ने कहा कि जिला अस्पताल चलिए मैं आपका एक्सरे कराता हूँ। एक्सरे कराने का दिलासा देकर जिला अस्पताल में पहुंचकर उसने महिला से कहा कि यह रुपए और जेवर मैं आपको दे देता, लेकिन इस गरीब युवक को क्या दूंगा।तब महिला ने उनके झांसे में आकर कहा कि मैं अपने जेवर इस गरीब युवक को दे दे रही हूं और यह रुपए और जेवर मुझे दे दीजिए। महिला ने तकरीबन अपना डेढ़ लाख का जेवर उतार दिया और दो हजार की चार गड्डी और रुमाल में रखा जेवर ले लिया।

दोनों युवकों के जाने के बाद उसने देखा कि चारों गड्डी 10 रुपये की थी और रुमाल में पत्थर के छोटे-छोटे टुकड़े थे। युवक ने पलक झपकते ही रुपये और जेवर बदल दिये थे।

   

FROM AROUND THE WEB