ऑनलाइन क्लासेज के नाम पर व्यवसायी के साथ हुई जालसाजी

.जालसाजों ने ठगी कर पहले ऐंठी 13 हजार रकम फिर 66 हजार रुपए फाइनेंस करवाने का किया प्रयास 

 
 ऑनलाइन क्लासेज के नाम पर व्यवसायी के साथ हुई जालसाजी

स्वतंत्र प्रभात 

पीजीआई इलाके के एक व्यवसायी के साथ ऑनलाइन क्लासेज के नाम पर जालसाजी का मामला सामने आया है। जहां पहले घर आकर जालसाजों ने 13 हजार रकम ऐंठी फिर व्यापारी के कागजात लेकर 66 हजार रुपए फाइनेंस कराने का प्रयास किया। व्यापारी को तो तब जानकारी हुई जब फाइनेंस कंपनी ने उन्हे मैसेज के माध्यम से जानकारी दी। पीड़ित व्यापारी ने रविवार को पीजीआई थाने में  शिकायत कर न्याय की गुहार लगाई है ।कल्ली पश्चिम के एकता नगर निवासी करूणा शंकर दीक्षित पत्नी व बच्चों के साथ रहते हैं। उनके मुताबिक 3 अगस्त को जब वह घर पर नही थे तो दो अनजान युवक घर पहुंचे और अपने आपको एक्स्ट्रामार्कस का एम्प्लाई बताते हुए बच्चों को डेमो क्लास देने की बात कही। पत्नी उसकी बातो में आ गयी और उसे 6 हजार नगद जबकि 7 हजार 230 रूपए का चेक थमा दिया और उन रूपयों से हाईस्कूल में पढ़ने वाले बड़े बेटे की 24 और कक्षा 6 में पढ़ने वाले छोटे बेटे की 16 डेमो क्लास करवाने की जानकारी दी गयी।इसके बाद जालसाजों ने यह भी बताया कि अगर क्लास समझ आयी तो

फिर 66 हजार रूपए और देने होंगे, अगर नही समझ आयी तो फिर डेमो का पैसा भी वापस भेज दिया जाएगा। जालसाजों की ठगी का शिकार पीड़ित व्यापारी करूँणा शंकर दीक्षित का कहना है कि कुछ दिनों बाद चेक भी क्लियर हो गया और डेमो क्लास शुरू हो गयी। लेकिन बच्चों ने जब ऑनलाइन क्लास फर्जी होने की जानकारी दी तो उन्होने अपने पैसे वापस मांगे। आरोप है कि पैसे मांगने पर कंपनी वाले धमकी देने लगे फिर वापस करने की बात पर व्यापारी से कैंसिल चेक के साथ साथ पैन कार्ड मांग लिया और कुछ दिनो में पैसे वापस आने की बात कही। लेकिन व्यापारी का कहना है कि अचानक उनके मोबाइल पर फाइनेंस कंपनी ने मैसेज के माध्यम से 66 हजार 150 रुपये लोन करवाने की जानकारी दी तब उन्हे जालसाजी के बारे में पता चला। करुणा शंकर दीक्षित ने रविवार को पीजीआई थाने में तहरीर देकर शिकायत दर्ज करवाई है। 

   

FROM AROUND THE WEB