श्रमिकों की समस्याओं के प्रति संवेदनशील एवं गंभीर है सरकारःसुनील भराला

श्रमिकों की समस्याओं के प्रति संवेदनशील एवं गंभीर है सरकारःसुनील भराला

अलीगढ़। अक्ष्यक्ष/राज्यमंत्री, श्रम कल्याण परिषद, उ0प्र0 पं. सुनील भराला की अध्यक्षता में सर्किट हाउस में विभागीय अधिकारियों के साथ अलीगढ़ मण्डल की प्रथम बोर्ड बैठक का आयोजन किया गया। अध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश सरकार श्रमिकों की समस्याओं के प्रति संवेदनशील एवं गंभीर है।

सरकार द्वारा श्रमिकों के कल्याण हेतु विभिन्न प्रकार की लाभकारी योजनाएं सचालित की जा रही हैं जिनका श्रमिकों को समय से लाभ भी प्राप्त हो रहा है। उन्होंने कहा कि यदि किसी श्रमिक की कोई समस्या या शिकायत है तो वह उ0प्र0 श्रम कल्याण परिषद में अपनी बात कह सकता है।

पं0 सुनील भराला मा0 अक्ष्यक्ष/राज्यमंत्री, श्रम कल्याण परिषद ने बताया कि प्रदेश के लोकप्रिय मुख्यमंत्री द्वारा 29 जनवरी 2019 को बोर्ड का गठन किया गया। प्रदेश भर में लगभग 5.50 लाख वाणिज्य कर प्रतिष्ठान, 17.5 हजार कारखाने आदि बोर्ड में पंजीकृत हैं। उन्होंने बताया कि श्रमिकों के कल्याण के लिये मुख्यतः 05 कल्याणकारी योजनाएं संचालित की जा रही हैं, जिसमें प्रदेश सरकार द्वारा बढ़ोतरी करते हुए 02 नई श्रमिक कल्याणकारी योजनाएं मिल्खा सिंह खेल कल्याण योजना एवं स्वामी विवेकानन्द धार्मिक पर्यटन यात्रा योजना को और जोड़ा गया है।

भराला ने बताया कि श्रम कल्याण परिषद द्वारा संचालित 05 योजनाओं के नामों में परिवर्तन करते हुए महापुरूषों के नाम पर क्रमशः- महाराजा हरिश्चन्द्र श्रमिक कल्याण योजना, एपीजे अब्दुल कलाम श्रमिक कल्याण योजना, दत्तोपंत ठेकड़ी श्रमिक कल्याण योजना, महादेवी वर्मा श्रमिक कल्याण योजना एवं महारानी लक्ष्मीबाई श्रमिक कल्याण योजना का नया नाम दिया गया है।

परिषद का मानना है कि ठेकेदारों द्वारा भेजे गये श्रमिक को भी संचालित सभी 07 योजनाओं का लाभ सुनिश्चित हो, इस हेतु प्रस्ताव जल्द ही अनुमादनार्थ विधान सभा में रखा जाएगा। उन्होंने बताया कि अब श्रमिक को सभी योजनाओं के लाभ के साथ न्यूनतम मासिक वेतन 21,000 रूपये प्राप्त होगा। उन्होंने बताया कि सरकारी भूमि पर झुग्गी-झोंपड़ियों में निवास करने वाले परिवारों को प्रधानमंत्री आवास योजना या अन्य किसी राज्य योजना के तहत लाभान्वित किया जाए इस बात को लेकर वह जल्द ही देश के प्रधानमंत्री जी से मुलाकात करने वाले हैं।

बैठक में कोल विधायक अनिल पाराशर, अनिल सिंह शेखावत, सदस्य आल इण्डिया हैण्डलूम बोर्ड, पवन खण्डेलवाल, सुरेश लोधी, विभिन्न श्रमिक संगठनों के पदाधिकारीगण एवं विभागीय अधिकारियों द्वारा प्रतिभाग किया गया।

 

Comments