वीसी के अनुपस्थिति में अन्य पदाधिकारियों से वार्ता रही विफल

वीसी के अनुपस्थिति में अन्य पदाधिकारियों से वार्ता रही विफल

दरभंगा: छात्र संगठन एआईएसएफ आईसा, एआईडीएसओ, एमएसयू, छात्र राजद, एनएसयूआई के दर्जनों कार्यकर्ताओं ने अपने घोषित कार्यक्रम के तहत भारी बारिश में छात्र संघ चुनाव की तिथि बढ़ा कर छठ पूजा के बाद करने की माँग को लेकर मिथिला विश्वविद्यालय पर आक्रोशपूर्ण प्रदर्शन किऐ। प्रदर्शन से पूर्व सीपीआई कार्यालय से दर्जनों की संख्या में छात्र मिथिला विश्वविद्यालय छात्र-संघ चुनाव 2019-2020 की अधिसूचना और विवि प्रसाशन के खिलाफ़ नारा लगाते हुए विवि मुख्यालय पर पहुँचे।

प्रदर्शन का नेतृत्व आइसा के राज्य सह सचिव संदीप चौधरी, एआईएसएफ के जिला सचिव शरद कुमार सिंह, छात्र राजद के प्रवीण कुमार यादव, एमएसयू के अमन सक्सैना व एनएसयूआई के त्रिभुवन कुमार कर रहे थे। प्रदर्शन के उपरांत कुलपति कार्यालय के मुख्य गेट के सामने एआईडीएसओ के पूर्व प्रदेश  उपाध्यक्ष लाल कुमार की अध्यक्षता में सभा हुई। जिस को संबोधित करते हुए वक्ताओं ने कहा कि विश्वविद्यालय प्रशासन  लगातार छात्र संगठनों की मांगो को नजरअंदाज कर रही है। छात्रसंघ चुनाव की अधिसूचना एक विशेष छात्र संगठन को सहायता पहुंचाने के उद्देश्य जारी किया गया है।

मिथिला क्षेत्र के अंदर दशहरा, दीपावली, छठ मुख्य त्यौहार माना जाता है। इस दौरान छात्र-छात्राएं महाविद्यालय विश्वविद्यालय कैंपस से अलग रहते हैं। उस बीच में छात्र संघ चुनाव करा कर आम छात्र छात्राओं को चुनाव से विवि वंचित करना चाहती है। इस साजिश को हम तमाम वामपंथी, जनवादी, प्रगतिशील संगठन बर्दाश्त नहीं करेंगे। विश्वविद्यालय प्रशासन छात्र संघ चुनाव में किस तरह मतदान की प्रतिशत बढे़ इस हेतु कोई भी कार्यक्रम का आयोजन नहीं करती है। यह तमाम बात इस ओर इसारा करती है कि चुनाव में किसी विशेष संगठन को फायदा पहुंचाया जाऐगा। वक्ताओं ने इस आंदोलन को विश्वविद्यालय प्रशासन के द्वारा नजरअंदाज करने का भी आरोप लगाया और कहा कि जब यह घोषित कार्यक्रम कई छात्र संगठनों के तरफ से था तब विश्वविद्यालय को वार्ता हेतु किसी पदाधिकारी को पहले से नियुक्त करना चाहिए लेकिन कुलपति और कुलसचिव दोनों विश्वविद्यालय से गायब है यह काफी चिंताजनक है।

प्रदर्शन के उपरांत उपकुलानुशासक डॉक्टर एसपी सुमन के आग्रह पर आंदोलनकारी की एक शिष्टमंडल छात्र कल्याण पदाधिकारी, मुख्य चुनाव पदाधिकारी, कुलसचिव के प्रभार में भू संपदा पदाधिकारी से वार्ता करने के लिए गया। जहां वार्ता विफल रहा। वही वार्ता करने गए छात्र नेता शरद कुमार सिंह ने जब मुख्यचुनाव पदाधिकारी और छात्र कल्याण पदाधिकारी को कहा कि आपका अधिसूचना किसी विशेष छात्र संगठन को फायदा पहुंचाने के नीत से जारी किया गया है तो छात्र कल्याण पदाधिकारी वार्ता से भाग गए वहीं मुख्य चुनाव पदाधिकारी के लिए बोलते गए कि ये मात्र रबड़ स्टांप है। इनका कोई अधिकार नहीं है इस अधिसूचना में फेरबदल करने का सिर्फ कुलपति इसे कर सकते हैं।

छात्र नेताओं के द्वारा बार-बार कुलपति से वार्ता करवाने का आग्रह किया गया मगर पदाधिकारी सुनने का नाम नहीं लिये। इस कारण वार्ता विफल रही। वार्ता से निकलने के उपरांत सभी संगठनो के नेताओं ने घोषणा किया कि कल से विवि मुख्यालय अनिश्चितकालीन बंद कर हम अपने आन्दोलन को और उग्र करेंगें। प्रदर्शन में एआईएसएफ के छात्र नेता अवनीश कुमार मोहम्मद मोबीन, अजीत कुमार, शंकर कुमार यादव, आइसा के जिला अध्यक्ष प्रिंस राज, जिला सचिव विशाल माँझी, छात्र नेता मयंक कुमार, राहुल राज, छात्र राजद के जिला उपाध्यक्ष मनीष सम्राट, प्रधान महासचिव, अफजल अहमद, अरमान अशरफ,रमेश रमन, रोहित कुमार, दिलखुश कुमार, लल्लन यादव, ऋषि कुमार, एमएसयू की छात्र नेत्री प्रियंका कुमारी, एआईडीएसओ के ललित कुमार झा, दयानन्द यादव, हरेराम, एनएसयूआई के छात्र नेता प्रलाद सिंहा, राहुल सिंह, क्रांति सिंह, सुमित राय आदि उपस्थित थे।

 

Comments