साल से जलमीनार खराब होने के कारण ग्रामीणों में आक्रोश

 
1 साल से जलमीनार खराब होने के कारण ग्रामीणों में आक्रोश रिपोर्ट

शिकारीपाड़ा/ दुमका/ झारखंड:- 

शिकारीपाड़ा प्रखंड के अंतर्गत काजलादहा गांव में 1 वर्ष से जलमिनर खराब होने की वजह से ग्रामीणों पर काफी आक्रोश दिखाई दी गई जहां ग्रामीणों ने बताया कि यहां की स्थिति खराब होने की वजह से 1 किलोमीटर नदी का पानी लाकर पीने को है लोग मजबूर ग्रामीणों ने बताया कि ठंडे का मौसम और दिन है उसके वजह से हम लोगों को काफी परेशानियां होती है 

सुबह में उठकर नदी के आवर पानी लाने के लिए जाना पड़ता है जहां अपने झूठा बर्तन को भी मजने के लिए 1 किलोमीटर जानी पड़ती है। इसको लेकर गंभीरता का विषय है ग्रामीणों का कहना है कि 1 साल से जलमिनर खराब होने के बावजूद इस विषय में ग्राम पंचायत मुखिया को सूचना देते हुए अब तक मरम्मत नहीं की गई ग्रामीणों ने बताया की मुखिया को बताते हुए तीन बार हो चुकी है लेकिन अभी तक कोई सूचना या मरम्मत नहीं हो पाई है इसको लेकर गंभीरता का विषय है हम लोगों का प्यासी आप तक बुज नहीं हो पाई। 

 इसको लेकर आसपास के छोटे बड़े दुकानदार एवं युवा साथियों को भी दिखाती का सामना करना पड़ रहा है महिला एवं बुजुर्गों का भी स्थिति देखकर 1 किलोमीटर ठंडी के मौसम में पानी लाना अध्ययन हानिकारक है इसको लेकर सुबह की ठंडी हवा से लोगों की तबीयत बिगड़ सकती है छोटे-छोटे बच्चे अपनी प्यास बुझाने के लिए नदी की और जानी पड़ते हैं 

इसको लेकर स्कूल जाने वाले छात्र-छात्राओं को भी सुबह में स्नान कर अपना स्कूल की ओर प्रस्थान करती है छोटे-छोटे बच्चे ने भी सरकार से गुहार लगाते हुए कहे गए कि हमारी घरों में 1 वर्ष से जल में ना तो बनाई गई है लेकिन आज तक कोई सुविधा उपलब्ध नहीं कराई गई। इसको लेकर गंभीरता का विषय है।
 

   

FROM AROUND THE WEB