जदयू प्रवक्ता राकेश सिंह ने गंडक पूल सह सड़क निर्माण हेतू सुझाव किया पेश

अब सचेत हो जाय परसौनी मधुबनी सहित यूपी सीमा क्षेत्र की जनता
 
राकेश सिंह
प्रस्तावित पूल से पिपरासी का कोई सरोकार नही–राकेश सिंह

स्वतंत्र प्रभात

ब्यूरो प्रमुख प्रमोद रौनियार 

कुशीनगर। बिहार राज्य के प्रखंड पिपरासी दवनहा मधुबनी को बगहा से जोड़ने के लिए गंडक नदी पर पुल बनाने की कवायद लगभग एक दशक से चल रही है,जिस पर जदयू मुख्यमंत्री प्रवक्ता सह बगहा विकास मंच के संयोजक राकेश सिंह ने अपना मंतव्य व्यक्त करते हुए कहा कि पिछले दिनों बगहा एनएच 727 डुमवलिया से यूपी के बेलवनिया मिशन के बीच गंडक नदी पर पुल सह सड़क निर्माण की खबर आई थी जो बिल्कुल अव्यवहारिक है। जिलाधिकारी के साथ जनप्रतिनिधियो की मिटिंग में इस मार्ग आरेखन को मदनपुर पनियहवा सड़क के विकल्प के रूप मे स्वीकृत किया गया है।
प्रस्तावित पूल से पिपरासी का कोई सरोकार नही–राकेश सिंह
उक्त पुल के निर्माण से धनहा मधुबनी सुगौली के लोगो को कोई सुविधा नही मिलने वाली।अभी पनियहवा होकर पिपरासी प्रखंड कार्यालय की दूरी 49 किलोमीटर है,जबकि धनहा रतवल पूल से 41कीलो मीटर की दूरी है।हालाकि कुछ नेता कह रहे है कि इस मार्ग के बनने से बगहा से पिपरासी की दूरी आठ दस किलोमीटर रह जायेगी जो सरासर गलत है।इस पुल से पिपरासी का कोई सरोकार नही होगा।क्योकि यह पूल सह सड़क मार्ग पिपरासी से काफी दूर पश्चिम दिशा से होकर बेलवनिया मिशन के पास पनियहवा पडरौना सड़क पर जाकर निकलेगा।यह पूल बनेगा तो बगहा के सामने लेकिन इसका फायदा बगहा व धनहा मधुबनी सुगौली के लोगों को उतना नही मिलेगा जितना मिलना चाहिए।नदी के बीच दक्षिण पश्चिम दिशा में बनने जा रहे इस पूल का निर्माण होने के बाद नदी की धारा का दबाव बढने से बगहा शहर और पिपरासी प्रखंड के दियारावर्ती क्षेत्र सेमरा लबेदहां सौरहां और बलुआ ठोरी पंचायतों में बाढ एवं कटाव का खतरा बना रहेगा।जिन्होने भी इस पूल सह सड़क मार्ग का आरेखन खींचा है उनका ध्यान पनियहवा से पडरौना सड़क मार्ग को बगहा से 
जोड़ने का नजरिया रहा है न कि पिपरासी होते हुए यूपी को जोड़ने का दृष्टि।
शास्त्री नगर से परसौनी/जटहां घाट सड़क मार्ग से बिहार यूपी का होगा लाभ
राकेश सिंह ने अनुसार गंडक नदी पर आनंद नगर से पिपरासी(परसौनी) तक पुल सह सड़क मार्ग निर्माण की मांग बहुत पुरानी उठती रही है।मेरे विचार से अच्छा होगा कि पूल सह सड़क मार्ग का निर्माण आनंद नगर शास्त्री नगर डुमवलिया किसी बिन्दू से गंडक पार परसौनी (पिपरासी) के सामने बनाया जाए,ताकि बगहा और चम्पारण के लोगो को ज्यादा से ज्यादा लाभ हो सके।इस मार्ग को आगे जटहा से जोड़ देने पर पनियहवा बेलवनिया नेबुआ खिरिकिया पडरौना के अलावा गोरखपुर तक के लोग आसानी से आ जा सकते है।इससे बगहा व धनाहा क्षेत्र के लाखो लाख लोगों को सीधा लाभ मिल सकेगा।मदनपुर-पनियहवा मार्ग वन विभाग के अडियल रवैया से अगर बंद भी होता है तो बाल्मीकि नगर,सेमरा,हरनाटांड,डुमवलिया के लोग इस मार्ग से आसानी से पिपरासी होकर उत्तर प्रदेश के किसी भी इलाके में आ जा सकते है।
विधायक रिंकू सिंह करे भागीरथ प्रयास 
हालांकि वाल्मीकिनगर विधायक रिंकू सिंह को भी पूल सह सड़क की गंभीरता से लेते हुए स्थानीय जनप्रतिनिधि गण को साथ लेकर भगीरथ प्रयास करना चाहिए कि यह वन मार्ग किसी भी परिस्थिती में बंद ना हो।क्योकि वाल्मीकिनगर नगर विधान सभा क्षेत्र के लोगो के लिए मदनपुर पनियहवा मार्ग ही सीधा और सुलभ है।साथ ही मदनपुर देवी स्थान से हिन्दू धर्मावलम्वीयो की गहरी आस्था जुड़ी हुई है यह मार्ग बंद हुआ तो फिर करोड़ों की लागत से बने पनियहवा सडक पूल का क्या औचित्य रह जाएगा।अंत मेरा यही सुझाव होगा कि डुमवलिया/आनंद नगर से परसौनी(पिपरासी)
के सामने पूल बना कर बगहा को उतर प्रदेश से जोड़ने का नया वैकल्पिक मार्ग बनाया जाए।साथ ही मदनपुर पनियहवा मार्ग को हर हाल में चालू रख जाए।अगर नीचे जमीन पर वन विभाग अड़गा डालता है तो विधायक का प्रस्ताव मान कर सरकार उसी मार्ग के ऊपर से एलीवेटड रोड निकालने का विचार करे।
डुमवलिया से बेलवनिया पूल सह सड़क हैं अनुपयोगी
राकेश सिंह ने धरातल पर पूल सह सड़क को उकेरते हुए कहा कि किसी भी परिस्थिती में डुमवलिया से बेलवनिया मिशन मार्ग का आरेखन बगहा धनहा मधुबनी सुगौली के लिए अव्यवहारिक और अनुपयोगी है।इस मार्ग के बन जाने के बाद भी बगहा से पिपरासी व मधुबनी सुगौली आने जाने के लिए लोग धनहा रतवल पूल का ही चयन करेगे और फिर भविष्य में पिपरासी को बगहा से जोड़ने के लिए पूल का सपना पूरा नही होगा।क्योकि सरकार एक ही नदी पर इतना नजदीक तीसरा पूल नही बनाएगी।
समय हाथ से निकल जाने के बाद पछताने से कुछ नही मिलता – राकेश सिंह
राकेश सिंह ने कहा कि डुमवलिया वाया बेलवनिया मिशन पूल सह सड़क प्रस्ताव अभी अपने प्रथम चरण में ही है।इसके पहले शास्त्रीनगर,गांधीनगर,कैलाश नगर,दीनदयाल नगर,मलपुरवा,बलुआ ठोरी,सौरहां सेमरा लबेदहां इन लोगों का पिपरासी प्रखंड से जुड़ाव रहने के साथ सभी बगहा वासियो और मधुबनी पिपरासी की जनता को सचेत हो जाना चाहिए और सभी जनप्रतिनिधियो से मिल कर अपनी बात सरकार और प्रशासन तक पहुचानी चाहिए।समय हाथ से निकल जाने के बाद पछताने से कुछ नही होगा।हलांकी इस मार्ग रेखन पर सहमती के वक्त वाल्मीकिनगर के विधायक ने असहमती भी जाहिर की क्यो कि वे इस क्षेत्र से भली भाती परिचित हैऔर मदनपुर पनियहवा सडक को भी जीवत रखने की मांग उठाई लेकिन बहुमत उनके साथ नही था उल्टे उनके इस असहमती के लिए दुष्प्रचार भी किया जा रहा है अच्छा होता कि इस ऐतिहासिक वैकल्पिक मार्ग पर विचार के वक्त वर्तमान लोकसभा व राज्यसभा सांसद,बगहा व वाल्मीकिनगर के वर्तमान व पुर्व विधायक गण,वर्तमान व पुर्व एमएलसी पुर्व सांसद कैलाश बैठा और संबंधित पंचायतों के मुखिया,जिला पार्षद व प्रखंड प्रमुख के साथ कुशीनगर सांसद विजय कुमार दुबे पडरौना के विधायक मनीष जायसवाल खड्डा के विधायक विवेकानंद पांडेय से भी विचार लिया जाता जो लोग इस क्षेत्र से भलीभांति परिचित है। तब इस नये मार्ग का औचित्य सार्थक हो पाता।इसके निर्माण से अधिक से अधिक जनसंख्या लाभान्वित हो पाती।स्थानीय जनता के मंतव्य पर आधारित यह मेरा व्यक्तिगत सुझाव है।
   

FROM AROUND THE WEB