वैक्सीनेशन कैंपों का डीएम ने किया निरीक्षण

  वैक्सीनेशन की गति में तेजी लाई जाए, 15 से 18 वर्ष के सभी बच्चों का वैक्सीनेशन जल्द से जल्द पूर्ण किया जाए अधिक से अधिक प्रचार प्रसार करवाया जाए, डोर टू डोर विजिट किया जाए - जिलाधिकारी  उमेश प्रताप सिंह
 
वैक्सीनेशन कैंपों का डीएम ने किया निरीक्षण


 

शाहजहांपुर।

कोविड-19 के बढ़ते हुए संक्रमण के दृष्टिगत जन सामान्य की सुरक्षा हेतु जिलाधिकारी उमेश प्रताप सिंह  प्रतिदिन वैक्सीनेशन कैंपो/ सीएचसी/पीएचसी का निरीक्षण कर रहे हैं।

जिलाधिकारी  ने कहा कि लोगों की सुरक्षा ही हमारी पहली प्राथमिकता है। उन्होंने ने आज सिधौंली स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर हो रहे वैक्सीनेशन का निरीक्षण किया। सिंधौली में फर्स्ट डोज एवं सेकंड डोज की प्रगति के बारे में जानकारी ली, फर्स्ट एवं सेकंड डोज दोनों में ठीक प्रगति पाई गई।  जिस पर जिलाधिकारी ने सराहना करते हुए कहा कि और अधिक प्रचार प्रसार किया जाए।

जिनका फर्स्ट एवं सेकंड डोज पूरा हो चुका है उनको बूस्टर डोज भी लगाया जाए, सीएचसी में मौजूद लोग कोविड गाइडलाइन का पालन नहीं कर रहे थे, जिस पर जिलाधिकारी  ने निर्धारित दूरी बनाए रखने के निर्देश दिए उन्होंने कहा कि  कोविड  गाइडलाइन का अक्षरशः कड़ाई से अनुपालन किया जाए, सोशल डिस्टेंसिंग को फॉलो करें ,मास्क लगाए रखें लापरवाही न बरती जाए।

इसी क्रम में जिलाधिकारी ने होली एंजल स्कूल में 15 से 18 वर्ष की आयु वर्ग के बच्चों के चल रहे वैक्सीनेशन कैंप का निरीक्षण किया जहां पर कम संख्या में बच्चों को देखकर जिलाधिकारी  ने प्रधानाचार्य मैडम से कहा कि बच्चों को मोबिलाइज करके बुलाया जाए और उनका वैक्सीनेशन किया जाए। वैक्सीनेशन की गति में तेजी लाई जाए।  इसी क्रम में जिलाधिकारी ने एमनजई जलालनगर में पीएचसी पर किए जा रहे वैक्सीनेशन का निरीक्षण किया

 वैक्सीनेशन कैंप में अधिक संख्या में लोग मौजूद थे लेकिन वैक्सीनेशन की धीमी गति को देखकर जिलाधिकारी ने निर्देश दिए कि वैक्सीनेशन की गति में तेजी लाई जाए। जिलाधिकारी ने कहा कि बिलकुल भी लापरवाही ना बरती जाए, जन सामान्य की सुरक्षा हमारी पहली प्राथमिकता है यदि वैक्सीनेशन में किसी भी प्रकार की लापरवाही बरती जाती है तो संबंधित के विरुद्ध कठोर कार्यवाही की जाएगी।

FROM AROUND THE WEB