तेज हवाओं के साथ हुई बारिश से धान की फसल चौपट

किसानो को दोबारा सब्जियो व फूलो की बुवाई करवानी पड़ेगी जोकि किसानो के लिए  चिंता का कारण है 

 
तेज हवाओं के साथ हुई बारिश से धान की फसल चौपट 

स्वतंत्र प्रभात

मलिहाबाद लखनऊ जब बारिश का सीजन था तब बारिश न होने से किसान सूखे की मार झेल रहा था किसानो की धान की फसल सूखे से काफी बर्बाद हो गई। अब वही  अचानक सितंबर माह में तेज हवाओं के साथ हो रही रुक रुक कर बारिश से फूल वाली सब्जियों के साथ ही धान की फसल पर भी काफी नुकसान पहुंचा है। देर से रोपे गए धानो के लिए यह बारिश फायदेमंद साबित होगी लेकिन जिन धान के खेतो मे बालियां निकल आई है उनके लिए यह बारिश नुकसानदेय साबित हो रही है।धान की खेती करने वाले गोसालालपुर निवासी हबीब, सुलेमान, जाकिर, रज्जाक ,गुड्डू सहित तमाम किसानों ने बताया कि धान में बालियां निकलने लगी थी,

तेज हवाओं के साथ हुई झमाझम बारिश से सारे धान पलट गए हैं जिससे हम लोगों को काफी नुकसान हुआ है खेत में लगभग 60% तक नुकसान हो गया है।भारी बारिश से  सब्जियों की फसल  जैसे तरोई, लौकी ,कद्दू, पालक, सोया मेथी, धनिया, मूली, करेला, बैंगन के साथ ही गेंदे के फूलों की खेती करने वाले किसानों के लिए भारी नुकसान दायक साबित  हो रही है। इसका असर किसानों के ऊपर तो पड़ेगा ही क्योंकि खेतो मे पानी भरने से सब्जियां खराब हो गई है। कई कई खेतो मे तो फसले पानी मे डुबी हुई है।किसान सर्वेश का कहना है कि दोबारा से खेत की बुवाई कर सब्जियों को उगाना पड़ेगा जो कि हम किसानों को काफी मंहगा पड़ेगा। गेंदे फूल की खेती करने वाले  शिवनंदन,सुरेश,शंभू ने बताया कि बस गेंदे तैयार ही कर पाए थे, फूल निकलने वाले थे  इस बारिश से सब फूलो के खेत खराब हो गए। किसानो को दोबारा सब्जियो व फूलो की बुवाई करवानी पड़ेगी।जोकि किसानो के लिए  चिंता का कारण है।

   

FROM AROUND THE WEB