पिंडारी माइनर कट जाने से फसल जलमग्न सिंचाई विभाग मौन

सिंचाई विभाग के अधिकारियों के कान में जूं तक नहीं रेंगी मामले में सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियंता हेमंत वर्मा से दूरभाष पर बात की गई तो बताया कि मामला संज्ञान में है ऐ ई को मौके पर भेजकर जल्द ही निस्तारण किया जा रहा है 
 
पिंडारी माइनर कट जाने से फसल जलमग्न सिंचाई विभाग मौन 

स्वतंत्र प्रभात 

महराजगंज रायबरेली नहर विभाग के कर्मचारियों की लापरवाही के चलते माइनर कट जाने के कारण लगभग 30 बीघा धान की फसल जलमग्न हो गई है 1 सप्ताह बीत जाने के बाद भी सिंचाई विभाग के किसी भी कर्मचारी ने कटी हुई माइनर को बंद करवाने का काम नहीं किया है, जिसके चलते सिंचाई विभाग के आला अधिकारियों के प्रति रोष व्याप्त है, आपको बता दें कि क्षेत्र के पूरे छत्ता का पुरवा मजरे पहाड़पुर गांव से निकलने वाली पिंडारी माइनर के विगत 5 दिन पूर्व कट जाने के चलते सुरेश यादव पुत्र स्वर्गीय रामसेवक यादव कि लगभग 5 बीघे फसल जलमग्न हो गई जबकि गांव के अनेक किसानों की फसलें भी जलमग्न हुई है तथा गांव के ही राम भरोसे पुत्र राम अवतार देशराज पुत्र रामभरोसे राजकुमार

पुत्र रामाश्रय ननहु पुत्र ननकू भुनेश्वर पुत्र माता प्रसाद द्वारा अवैध रूप से माइनर में पाइप डाल दी गई थी जो तेज बहाव के कारण निकल गई और कट गई जिसके चलते गांव की लगभग 30 बीघे फसल जलमग्न हो गई है, जबकि शिकायतकर्ता विगत छह माह पूर्व अवैध पाइप डालने की शिकायत सुरेश यादव ने सिंचाई विभाग के अधिकारियों से की थी लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई और सिंचाई  विभाग के कर्मचारियों की उदासीनता से ही किसानों की फसल जलमग्न हुई है, तथा माइनर कट जाने के चलते किसान हैरान व परेशान है      जिनका पुरसाहाल जानने वाला कोई नहीं जिसकी शिकायत सिंचाई विभाग के कर्मचारी अधिकारी व कर्मचारीयों से कई बार की गई उसके बावजूद सिंचाई विभाग के अधिकारियों के कान में जूं तक नहीं रेंगी मामले में सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियंता हेमंत वर्मा से दूरभाष पर बात की गई तो बताया कि मामला संज्ञान में है ऐ ई को मौके पर भेजकर जल्द ही निस्तारण किया जा रहा है

   

FROM AROUND THE WEB