नाला निर्माण:कमर तक भरा पानी,बिछाया जा रहा सरियों का जाल

 
नाला निर्माण कमर तक भरा पानी,बिछाया जा रहा सरियों का जाल

मोनू शर्मा 
उरई (जालौन) 

सरकारी धन को खुर्दवुर्द करने का एक मामला सामने आया है जिसमें चौदहवें वित्त के पंद्रह लाख की रकम पर पानी फेरने की पूरी तैयारी कर ली गई है। मामला पालिका सीमांतर्गत कंजड़ बाबा से श्मशान घाट तक बन रहे दो सौ मीटर नाले का है जिसमें मानकों की जबर्दस्त धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। बहुत ही दिलचस्प है कि जिस नाले में कमर तक पानी भरा है उसमें सरिए डालने का काम किया जा रहा है। 

इलाकाई लोग इस स्थिति में अपनी आंखें मूंदे नहीं रख पाए और एसडीएम के यहां पूरे मामले की शिकायत कर दी गौरतलब है कि नगरपालिका बोर्ड बैठक में पारित प्रस्ताव के मुताबिक कस्बे के तिलक नगर में कंजड़ बाबा से श्मशानघाट तक नाला निर्माण का काम किया जा रहा है। 200 मीटर लंबे, एक मीटर चौड़े और डेढ मीटर ऊंचाई वाले इस नाले का निर्माण चौदहवें वित्त की 15 लाख रुपए की लागत से कराया जा रहा है जिसमें मानकों की बुरी तरह धज्जियां उड़ाई जा रही हैं सबसे ज्यादा हैरान करने वाली बात यह भी है कि नाला बिना किसी नापजोख के अन्ना बनाया जा रहा है।

सरकारी धन को खुर्दवुर्द करने का एक मामला सामने आया है

 इलाकाई लोगों को आशंका है कि जिस तरह का काम कराया जा रहा है उससे सरकारी धन पर पूरी तरह पानी फिरने से कोई रोक नहीं सकता। इलाकाई बाशिंदों अखिलेश कुशवाहा, परशुराम कुशवाहा, पप्पू, जयनारायण, बाबू, अरविंद, प्रमोद, सुशील, रामबिहारी, राजेंद्र आदि ने एसडीएम कृष्ण कुमार सिंह से पूरे मामले की शिकायत करते हुए कहा कि पिछले पंद्रह दिन से नाला खुदा पड़ा है जिसमें कमर तक पानी भरा है जिससे किसी बड़े हादसे की आशंका बनी रहती है।

 नाला निर्माण में मानक और गुणवत्ता का दूर दूर तक पता नहीं है, कमर तक पानी से भरे नाले में सरिया बिछाया जाना बाकई दिलचस्प और हैरान करने वाली स्थिति है। उन्होंने एसडीएम से पूरे प्रकरण की जांच कराकर गुणवत्ता पूर्ण निर्माण कराए जाने की मांग की है इस पूरे प्रकरण को लेकर जब पालिकाध्यक्ष डॉ. सरिता वर्मा से बात की गई तो उन्होंने कहा कि पानी निकासी के बाद ही निर्माण कार्य कराया जाएगा। निर्माण में गुणवत्ता से कोई समझौता नहीं किया जाएगा। मौके पर जेई द्वारा निरीक्षण कराया जा रहा है। पानी खाली कराने की व्यवस्था कराई जा रही है।

 

FROM AROUND THE WEB