नगर निगम से सटे हथोड़ा बुजुर्ग में फैला गंदगी का साम्राज्य

गुलछर्रे उड़ा रहे चार चार सफाई कर्मचारी

 
नगर निगम से सटे हथोड़ा बुजुर्ग में फैला गंदगी का साम्राज्य

दिहाडी पर सफाई करा रहे सफाई कर्मचारियों पर भी डीपीआरओ ने नहीं की कार्रवाई

शाहजहांपुर। 

शाहजहांपुर जिले के ग्रामीण क्षेत्रों का साफ सफाई के मामले में बुरा हाल है ही जहां तैनात सफाई कर्मचारी कभी कभार दिहाडी मजदूरों से सफाई करा कर डीपीआरओ एवं ग्राम प्रधानों की मेहरबानी के चलते गुलछर्रे उड़ा रहे हैं तो नगर निगम क्षेत्र से सटे गांव भी इस मामले में पीछे नहीं और डीपीआरओ ऐसी रूम से निकलने की जरूरत नहीं समझते नगर निगम से सटे हथोड़ा बुजुर्ग में गली मोहल्लों में साफ-सफाई तो दूर की बात उत्तर प्रदेश सरकार के दिशा निर्देशानुसार गांव के स्कूल आंगनबाड़ी केंद्र मिनी सचिवालय और सार्वजनिक स्थलों पर भी साफ सफाई नहीं हो पा रही है।  

जहां गंदगी का साम्राज्य फैला हुआ है जबकि उत्तर प्रदेश सरकार के सख्त दिशा निर्देश है कि तैनात सफाई कर्मचारी प्रतिदिन सार्वजनिक स्थानों आंगनबाड़ी केंद्र स्कूल पंचायत घर आदि की साफ सफाई करेंगे लेकिन नगर निगम से सटे हथोड़ा बुजुर्ग गांव में गांव के आंगनबाड़ी केंद्र मिनी सचिवालय सार्वजनिक सामुदायिक शौचालय आदि के सामने गंदगी का साम्राज्य फैला हुआ है वही गांव में साफ सफाई व्यवस्था दुरुस्त ना रहने के कारण गंदगी से पटी नालियों के कारण  पानी गलियों में बह रहा है।  

कई बार सोशल मीडिया पर एवं समाचार पत्रों में सफाई कर्मचारी द्वारा अधिकतर दिहाड़ी मजदूरों से काम कर आए जाने का मामला सामने आया है खुद दिन पूर्व कैबिनेट मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने भी ऐसी शिकायतें लगातार मिलने पर कार्रवाई की बात कही थी वही अभी कुछ दिन पूर्व मंत्री राकेश राठौर गुरु भी इस मामले को स्वीकार कर चुके हैं उन्होंने तो यहां तक कह दिया था की सफाई कर्मचारी दिहाड़ी मजदूरों से काम करा रहे हैं और खुद दारु मुर्गा उड़ा रहे हैं इतना कुछ होने के बावजूद डीपीआरओ कार्यालय की सांठगांठ के चलते अभी तक ऐसे सफाई कर्मचारियों पर कोई कार्यवाही नहीं की गई है

   

FROM AROUND THE WEB