थाना विकास नगर जाँच अधिकारी दिनेश तिवारी पर पीड़ितों ने लगाया पैसा मांगने का गंभीर आरोप

 
राजधानी लखनऊ - अराजकता के खिलाफ आवाज उठाने पर फर्जी मुक़दमे के खिलाफ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से हुई शिकायत

राजधानी लखनऊ - अराजकता के खिलाफ आवाज उठाने पर फर्जी मुक़दमे के खिलाफ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से हुई शिकायत 
सबसे बड़ा सवाल है कि अराजकता के सामने स्थानीय पुलिस हो रही मजबूर तो डर के साये में कैसे होगी निष्पक्ष जाँच 
पैसा न देने पर गंभीर धाराओं में चार्जशीट लगाने की दी जा रही धमकी 


लखनऊ 
विकास नगर 

जहाँ एक तरफ योगी अदिथानाथ और लखनऊ पुलिस कमिश्नर डी के ठाकुर अराजकता और गैर कानूनी कार्यो के खिलाफ लगातार कड़ी कार्यवाही करते हुए अराजकता और गुंडागर्दी पर साफ़ सन्देश दे रहे है वही उनके अधिकारी उससे उलट उनके आदेशों की धज्जिया उड़ने में कोई कोर-कसार नहीं छोड़ रहे है अधिकारियों की मनमानी तरीके से जाँच के नाम पर पैसा मांगने और गलत रिपोर्ट लगाने के नाम पर पैसे की मांग करना कितना उचित है शायद इसका अंदाजा इन अधिकारियो को नहीं है l

अराजकता के सामने नतमस्तक हो रहे जाँच अधिकारी दिनेश कुमार तिवारी को देखकर तो यही लग रहा है कि आम लोगो द्वारा अराजकता और अराजक लोगो के सहयोगियों के खिलाफ शिकायत करना आज उन्ही पर भारी पड़ता नजर आ रहा है जहाँ फर्जी मुक़दमे और शिकायतों से स्थानीय थाना अराजकता करने वालों के सामने नतमस्तक होते हुए दिखाई दे रहा है l 

मामला थाना विकास नगर जनपद लखनऊ का है जहाँ  कोर्ट के आदेश पर एक मुकदमा दर्ज किया गया था जिसमें मुहल्ले में रहने वाले 9 लोगों पर कूट रचित तरीके से निराधार और परेशान करने की नियत से मुकदमा दर्ज कराया गया था जिसके जांच पिछले लगभग 2 साल से हो रही है और जांच अधिकारी सभी लोगों से बारी बारी पैसे की मांग लगातार कर रहे हैं ऐसी आशंका है कि जो जांच अधिकारी दिनेश तिवारी लगातार पैसे की मांग कर रहा है उसकी जांच पर संदेह पैदा होता जा रहा है l 

 पीड़ितों ने अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से अनुरोध किया है कि मामले को किसी उच्च अधिकारी द्वारा जांच कराई जाए जिससे अनावश्यक आम लोगों को जो समाज हित में कार्य कर रहे हैं कोई परेशानी ना होने पाए और लोगों का कानून पर भरोसा कायम रहे l जिन्होंने शिकायत की है उनके द्वारा पूर्व में कई सारी निराधार शिकायत की गायी है और जिससे आम जनता को उसका खामियाज़ा भुगतना पड रहा है l उच्चाधिकारियों द्वारा निष्पक्ष जाँच से सही रिपोर्ट सामने आएगी और लोगों का भरोसा कायम रहेगा I  अराजकता और जुवारियों के खिलाफ शिकायत करने की वजह से समाज में कुछ लोगो को इतनी समस्या हो रही है जिसकी वजह से ऐसी अनावश्यक और फर्जी मुक़दमे दर्ज कराये जा रहे है l  

आपको बताते चले कि पिछले कई सालो से लाला लाजपत राय वार्ड थाना विकास नगर लखनऊ में अराजकता और जुवारियों का जमावड़ा बना रहता था जिसके खिलाफ स्थानीय लोगो द्वारा लगातार शिकायत करने से वहां का माहौल काफी हद तक ठीक हो रहा था लेकिन इसी बीच अराजकता का बढ़ावा दे रहे कुछ अराजक लोगो द्वारा शिकायत कर्ताओ का विरोध करते हुए उन्हें फर्जी मुकदमो में फ़साने का लगातार प्रयास किया जा रहा है और तमाम षड्यंत्र करते हुए कथित वकील द्वारा जो अराजक लोगो के सहयोग में लगातार अपनी आवाज बुलंद करता जा रहा है अब जाने-अनजाने में थाने से भी बढ़ावा मिलता नजर आ रहा है l 

बात यही तक नहीं रुकी फर्जी शिकायत पर अब आम लोगो से जाँच के नाम पर पैसे की मांग करना भ्रस्टाचार को बढ़ावा देने के साथ साथ उत्तर प्रदेश पुलिस और सरकार के मंसूबे पर पानी फेरने का काम भी हो रहा है अब स्थानीय लोगो ने मुख्यमंत्री से शिकायत की है कि सम्बंधित मामले की उच्च स्तरीय जाँच कराई जाये जिससे स्थानीय लोगो को न्याय मिल सके l अब देखने वाली बात ये होगी कि क्या उच्च अधिकारी अब मामले को गंभीरता से लेकर कार्यवाही करेंगे या फिर पीड़ितों को और  इन्तजार करना होगा यह तो आने वाला समय ही बता पायेगा 


 

   

FROM AROUND THE WEB