पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान, ने अपने बयान को लेकर महिला जज से मांगी माफ़ी

 
पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान, ने अपने बयान को लेकर महिला जज से मांगी माफ़ी 

स्वतंत्र प्रभात 
 

इमरान खान ने महिला जज के खिलाफ धमकी भरी टिप्पणी मामले में माफी मांग ली है। इमरान खान की ओर से यह माफी उस समय मांगी गई है जब कोर्ट ने पूर्व प्रधानमंत्री के खिलाफ सख्त रुख अपनाते हुए अवमानना की कार्यवाही पर विचार करना शुरू कर दिया है। गुरुवार को ही उनके खिलाफ आरोप तय किया जाना था, लेकिन उससे पहले ही इमरान ने कोर्ट के सामने माफी मांग ली।
द डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक, इमरान खान ने महिला जज जेबा चौधरी से व्यक्तिगत रूप से भी माफी मांगने का वादा दिया है। जिनके खिलाफ अगस्त में एक रैली के दौरान अपने भाषण में कथित तौर पर धमकी दी थी। इमरान खान की ओर से माफी मांगे जाने के सात ही कोर्ट ने उनके खिलाफ अवमानना के मामले को स्थगित कर दिया।
 

इमरान बोले- दोबारा ऐसा नहीं होगा
पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) पार्टी के प्रमुख ने अपनी दलील में कहा, अगर मैंने कोई सीमा लांघी हैं तो मैं मांफी मांगता हूं। ऐसा दोबारा नहीं होगा। मेरा कभी भी अदालत की भावनाओं को ठेस पहुंचाने का इरादा नहीं था। रिपोर्ट के मुताबिक, खान ने अदालत को यह भी आश्वासन दिया कि वह ऐसा कृत्य फिर कभी नहीं करेंगे।

रैली के दौरान दी थी धमकी
इस्लामाबाद में 20 अगस्त को एक रैली के दौरान, इमरान खान ने अपने सहयोगी शाहबाज़ गिल के साथ की गई बदसुलूकी को लेकर शीर्ष पुलिस अधिकारियों, चुनाव आयोग और राजनीतिक विरोधियों के खिलाफ मामला दर्ज कराने की धमकी दी थी। गिल को राजद्रोह के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।
 

जज के फैसले पर जताया था आरोप
उन्होंने न्यायाधीश जेबा चौधरी के उस फैसले पर ऐतराज़ जताया था जिसमें उन्होंने गिल को दो दिन की हिरासत में भेजने की पुलिस की गुजारिश को स्वीकार कर लिया था और कहा था कि उन्हें तैयार रहना चाहिए, क्योंकि उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी।
 

   

FROM AROUND THE WEB