भाइयों की कलाई पर सजेगी समूह की महिलाओं से निर्मित राखी

 
भाइयों की कलाई पर सजेगी समूह की महिलाओं से निर्मित राखी

 


फतेहपुर-बाराबंकी। 


विकास खंड फतेहपुर के स्वंय सहायता समूह की महिलाओं ने स्वदेशी योगदान को ध्यान में रखकर राखियों को सुंदर तरीके से बनाया है। जिसका स्टाल ब्लाक से पास लगाया गया।


   तहसील क्षेत्र में पावन रक्षाबंधन पर्व पर भाइयों की कलाई चीन निर्मित राखियों की बजाय स्वयं सहायता समूह की ओर से निर्मित रंग-बिरंगी राखियों सजेगी। मेक इन इंडिया को मजबूती देने की लिहाज से राष्ट्रीय ग्रामीण अधिक आजीविका मिशन की ओर से समूह की महिलाओं को बाकायदा प्रशिक्षित किया गया है।

 तैयार होने वाली स्वदेशी राशियों को बाजार में उपलब्ध कराने की कवायद अभी से शुरू कर दी गई है। इसी कड़ी में राखियों के लगे स्टाल का उद्धघाटन बुधवार को बीडीओ आलोक कुमार वर्मा द्वारा फीता काटकर किया गया। राखी बनाने में जय हनुमान, मा चंद्रिका, राजवंशी, दुर्गा माँ, सरस्वती, जागृति, लक्ष्मी, गयात्री व उजाला स्वंय सहायता समूह की महिलाओं द्वारा राखियों को बनाया जा रहा है। अबतक महिलाओं द्वारा 18 हजार राखी बनाई गई है और महिलाओं द्वारा बड़े पैमाने पर राखी बनाने का कार्य युद्ध स्तर पर किया जा रहा है।

   

FROM AROUND THE WEB