थाने पर महिला को नहीं मिला न्याय तो लगाई पुलिस अधीछक से न्याय की गुहार

 वही इस संबंध में जब रामनगर प्रभारी निरीक्षक से वार्ता हुई तो उन्होंने बताया 5 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है उनकी तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है 
 
थाने पर महिला को नहीं मिला न्याय तो लगाई पुलिस अधीछक से न्याय की गुहार

स्वतंत्र प्रभात 

रामनगर बाराबंकी महिलाओं को लेकर भाजपा सरकार तरह-तरह के अभियान चला रही हैं जिनसे पीड़ित महिलाओं को न्यान मिल सके लेकिन रामनगर थाने  पर नवनियुक्तत प्रभारी निरीक्षक  के आते ही महिलाओ के प्रति भेद भाव किया जा रहा है और महिलाओं को न्याय मिलना असंभव हो रहा है देखा जाए तो महिलाओं के लिए दरवाजा बंद हो चुका है पूरा मामला बाराबंकी जनपद के रामनगर थाना क्षेत्र के बुढगौरा गांव का है जहां की पीड़िति नीलम देवी पत्नी राजकुमार तथा जूली पुत्री राजकुमार ने थाना रामनगर पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए महिला नें बताया गांव के निर्मल कुमार सुधीर गुड़िया देवी इंद्राणी सचिन आदि लगभग

आधा दर्जन दबंग किस्म के लोगों ने एकराय होकर उनके ऊपर 26 अगस्त को जानलेवा हमला कर दिया जिनकी पिटाई से पुत्री जूली के शरीर में अंदरुनी और जाहिरान चोटे आई है और उसके गुप्त अंगों से ब्लीडिंग हो रही है जिसकी शिकायत रामनगर पुलिस को की गई लेकिन रामनगर पुलिस ने पीड़िता को न्याय देने के बजाय डांट फटकार के थाने से भगा दिया वही पीड़िता अपने दर्द से कराहते हुए अपनी मां के साथ बाराबंकी मुख्यालय पहुंच कर पुलिस  अधीक्षक का दरवाजा खटखटाते हुए न्याय की गुहार लगाई है  वही इस संबंध में जब रामनगर प्रभारी निरीक्षक से वार्ता हुई तो उन्होंने बताया 5 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है उनकी तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है 

   

FROM AROUND THE WEB