पुलिस की मदद से सात साल बाद सउदी से घर पहुंचा इसरायल, खुशी से छलका परिजनों का आंसू

बेटे की सकुशल वापसी से घर में लौटी खुशहाली, खुशी से पिता का छलका आंसू
 
पुलिस को धन्यवाद देते परिजन

महराजगंज। 

सदर कोतवाली क्षेत्र के बेइलिया गांव निवासी फरियाद के प्रार्थना पत्र पर जिले की पुलिस ने एक ऐसा काम किया जिसकी हर तरफ सराहना हो रही है। पिता की फरियाद पर पुलिस ने विदेश मंत्रालय की मदद से सउदी अरब में सात साल से फंसे उसके बेटे इसरायल की घर वापसी कराई। मामला जानकारी में आने के बाद एसपी ने इसे गंभीरता से लिया तत्पश्चात पुलिस ने केन्द्रीय विदेश मंत्रालय को पत्र भेजा। विदेश मंत्रालय के निर्देश पर सउदी अरब में स्थित भारतीय दूतावास ने इसरायल को ढूंढ निकाला और उसकी सकुशल घर वापसी कराई।

सदर कोतवाली क्षेत्र के बेइलिया निवासी इसरायल वर्ष 2014 में रोजी-रोटी के चक्कर में सउदी अरब कमाने गया था। एक साल तक उससे परिजनों की बात होती रही, लेकिन उसके बाद इसरायल का परिजनों से सम्पर्क नहीं हो पाया। न तो फोन पर बात हो पाती थी और ना ही कोई चिट्ठी या पैगाम भी आता था। सउदी अरब में रहने वाले क्षेत्र के करीबी लोगों के माध्यम से भी परिजनों ने इसरायल से सम्पर्क साधने का प्रयास किया लेकिन सम्पर्क नहीं हो पाया। इससे परिजन बेबस व चिंतित रहते थे।

इसरायल के पिता फरियाद ने कुछ दिन पहले पुलिस कार्यालय में एसपी डॉ. कौस्तुभ के सामने पेश होकर अपने बेटे को ढूंढने की गुजारिश की थी। उस दौरान उसकी आंखें भर आईं। एसपी ने प्रार्थना पत्र लेकर इसरायल को ढूंढने में हर संभव मदद का आश्वासन दिया था। फरियाद के प्रार्थना पत्र पर पुलिस कार्यालय की स्थानीय अभिसूचना इकाई ने केन्द्रीय विदेश मंत्रालय को सूचना दी।

विदेश मंत्रालय ने सउदी अरब में स्थित भारतीय दूतावास को इसरायल का पता लगाने का निर्देश दिया। पासपोर्ट नंबर के आधार पर छानबीन शुरू हुई, जिसके बाद इसरायल का पता चला। इसरायल के पास घर लौटने के लिए पैसा नहीं था। इसके बाद उसे सरकारी व्यय से सउदी अरब से घर लाया गया।

बेटे की सकुशल वापसी से घर में लौटी खुशहाली, खुशी से पिता का छलका आंसू

सउदी अरब से इसरायल अपने गांव सदर कोतवाली क्षेत्र के बेइलिया आ गया है। आठ साल बाद उसे आंखों के सामने देख परिजनों के आंख से आंसू छलक उठे। इसरायल के पिता बेटे की वापसी की सूचना देने पुलिस कार्यालय पहुंचा। एसपी के सामने पेश होते ही उसकी भी आंखें भरभरा उठी। एसपी से कृतज्ञता का इजहार करते हुए फरियाद ने कहा कि पूरा परिवार इसरायल के वापस आने को लेकर नाउम्मीद हो चुके थे। पुलिस-प्रशासन व शासन ने सउदी अरब से इसरायल को ढूंढकर परिवार को बेपनाह खुशी का माहौल दे दिया है।

पुलिस अधीक्षक डॉ कौस्तुभ ने बताया कि कोतवाली क्षेत्र के एक व्यक्ति ने सूचना दी थी कि उसका बेटा सउदी अरब में सात साल से है, लेकिन उससे सम्पर्क नहीं हो पा रहा है। इस मामले में एआईयू शाखा ने पत्र के आधार पर एंबेसी से सम्पर्क किया। इसके बाद पीड़ित पिता का बेटा सउदी अरब से घर आ गया है। इस तरह की सूचना पर स्थानीय अभिसूचना इकाई संबंधित दूतावास को पत्र भेजती रहती है। जिले की पुलिस की हर संभव कोशिश रहती है कि प्रार्थना पत्र पर प्रभावी कार्रवाई हो।

   

FROM AROUND THE WEB