पांच वर्षों से अधिक समय हो गया न ही पैचवर्क किया गया,

डामरीकरण, रामनगर-सहादतगंज मार्ग बड़े-बड़े गड्ढों में हुआ तब्दील 
 
पांच वर्षों से अधिक समय हो गया न ही पैचवर्क किया गया,

स्वतंत्र प्रभात 

रामनगर बाराबंकी रामनगर क्षेत्र की मुख्य सड़कों से लेकर संपर्क मार्गों की मरम्मत कर गड्ढा मुक्त करने का सरकारी दावा सिर्फ कागजों पर सिमट कर रह गया है।सड़कों पर बड़े-बड़े गड्ढों से राहगीर आए दिन गिरकर चोटिल हो रहे हैं। लेकिन इनका दर्द सुनने वाला कोई नहीं है। रामनगर तहसील क्षेत्र के रामनगर-सहादतगंज मार्ग पर सैकड़ों राहगीर निकलते हैं, लेकिन इस सड़क पर ध्यान किसी का नही जा रहा है। तो वहीं महादेवा-कड़का पुर मार्ग पर बड़े-बड़े गड्ढे होने से लोगों को आवागमन में दिक्कत होती है, जिसपर से गिर कर लोग घायल भी हो गए हैं।लेकिन किसी भी अधिकारी कर्मचारी का ध्यान इस सड़क पर नहीं गया है।

इन मार्गों पर वाहनों की आवाजाही तो दूर लोगों का पैदल निकलना भी दूभर है।हालांकि सड़कों को गड्ढा मुक्त करने के उद्देश्य से लोकनिर्माण विभाग हर साल पैच वर्क कराता है,लेकिन ज्यादातर मार्गों पर मरम्मत का काम कागजों में ही सिमटकर रह गया है। कई सड़कों पर घटिया  सामग्री डालकर रोड सही कर दी जाती है। लेकिन कुछ दिनों बाद उखड़ जाती है। जिसका खामियाजा ग्रामीणों को भुगतना पड़ता है।रामनगर-सहादतगंज सड़क कई वर्षों से बनी ही नहीं है। पांच वर्षों से अधिक समय हो गया न ही पैचवर्क किया गया,और न ही डामरीकरण, जिससे इस मार्ग पर बड़े-बड़े गड्ढे हैं।ग्रामीणों की इस समस्या को सुनने वाला कोई नहीं इससे ग्रामीणों में रोष व्याप्त है।

   

FROM AROUND THE WEB