सवाईकल कैंसर के बारे में छात्राओं को किया गया जागरूक

 
A
स्वतंत्र प्रभात
बलरामपुर। जनपद न्यायाधीश /अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार अनुसूचित जनजाति निदेशालय द्वारा संचालित राजकीय आश्रम पद्वति बालिका इण्टर काॅलेज विशुनपुर विश्राम विकास खण्ड पचपेड़वा में न्यूट्रिशन एवं सवाईकल कैंसर विषय पर साक्षरता/जागरुकता शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में राजकीय आश्रम पद्वति बालिका इण्टर काॅलेज विशुनपुर विश्राम के प्रभारी प्रधानाचार्य द्वारा बताया गया कि इस काॅलेज में अनुसूचित जनजाति की छात्राएं है।सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण ज्ञानेन्द्र कुमार ने छात्राओं को विस्तार पूर्वक विधिक कानून की जानकारी दी गई। उन्होंने कहा कि महिलाओं में सवाईकल कैंसर एक आम बीमारी के रूप में फैल रही है एक अध्ययन के अनुसार पूरी दुनिया में लगभग 10 प्रतिशत महिलाएं सवाईकल कैंसर की बीमारी से पीड़ित है। सामान्य रूप से यह बीमारी 40 वर्ष से अधिक की महिलाओं को होती है। यदि किसी प्रकार का कोई लक्षण या संदेह होता है तो नियमित सवाईकल कैंसर की जांच कराएं। सवाईकल कैंसर का टीका अवश्य लगवाएं, यह टीका 9-12 वर्ष की आयु में लग सकता है परन्तु विशेष परिस्थितयों में चिकित्सीय परामर्श के पश्चात् इससे अधिक आयु की बालिकाओं का टीकाकरण भी किया जा सकता है। वास्तव में मानव पेपिलोमावायरस एच0पी0वी0 संक्रमण सवाईकल कैंसर का कारण बनता है जिसके कारण सरवक्सि की कोशिकाओं में असामान्य परिवर्तन होता है और इसके फलस्वरूप गांठे या ट्यूमर बनने लगते है। इसका कारण विशेष रूप से एच0पी0वी0 16 एवं एच0पी0वी0 18 दो प्रकार के वायरस होते है। उन्होंने प्रभारी प्रधानाचार्य से कहा कि छात्राओं को पौष्टिक आहार उपलब्ध कराएगें। इस अवसर पर राजकीय आश्रम पद्वति बालिका इण्टर काॅलेज विशुनपुर विश्राम प्रभारी प्रधानाचार्य, शिक्षिकाएं एवं पैनल अधिवक्ता मुकेश सिंह एवं तहसीलदार /सचिव तहसील विधिक सेवा समिति तुलसीपुर व छात्राएं मौजूद रही।
   

FROM AROUND THE WEB