कुछ भी करने को उतावली अंजलि प्रिया

कुछ भी करने को उतावली अंजलि प्रिया

कास्टिंग डायरेक्टर से एक्टर बनीं अंजलि प्रिया नौसिखिया होने का सही उदाहरण है। उनका मानना है कि किसी चीज में पारंगत होना अलग बात है, हर व्यक्ति को कम से 2-3 हुनर तो आना ही चाहिये। भले ही वह उसका इस्तेमाल करे या ना करे, लेकिन सीखना जरूर चाहिये। ‘‘मैं भी अर्धांगिनी’ की अभिनेत्री के व्यक्तित्व के कई सारे रूप हैं, जो उनके हर अंदाज को खास बनाता है। अंजलि प्रशिक्षित कत्थक डांसर हैं। शॉट्स के बीच में वह थोड़ा बैले डांस भी सीखती हैं। इस अभिनेत्री को गाना भी पसंद है, वैसे वह खुद को इस मामले में खुशकिस्मत नहीं मानतीं। लेकिन यह बात उन्हें गाना गाने से रोक नहीं पाती। अंजलि ने माशर्ल आर्ट्स में भी बेसिक ट्रेनिंग ली है। साथ ही तलवारबाजी के भी कुछ गुर सीखे हैं।

साथ ही अपने खाली समय में थोड़ा डूडलिंग करना भी पसंद करती हैं। उनका कहना है, ’आपके पास सिर्फ एक जिंदगी है, तो फिर क्यों ना वे सभी चीजें की जायें जो आपको पसंद हों। अपने पसंद की हर चीज करने और सीखने की कोशिश करें, चाहे वह डांस हो, कोई नया हुनर हो या फिर कोई भी ऐसी चीज जो चलन में हो।‘‘ अभिनेत्री के पास उन चीजों की सूची है, जिन्हें वह रचनात्मक रूप से करना चाहती हैं। हर बार वह कुछ नया सीखना चाहती हैं फिर वह उस सूची पर निशान लगा देती हैं। अंजलि साल में दो महीने कुछ नया और रोचक सीखने के लिये छुट्टी पर रहती हैं। इससे जीवन और भी रोमांचक हो जाता है।‘‘ 

Support to Swatantra Prabhat Media

T & C Privacy

Loading...
Loading...

Comments